पासपोर्ट बनना हुआ अब आसान, देखिये यह हुए बदलाव

यह नियम तत्काल प्रभाव से लागू हो चुका है। अब तत्काल कोटे में पासपोर्ट बनवाना और ज्यादा आसान हो गया है। तत्काल कोटे में पासपोर्ट के लिए अप्लाई करने वाले किसी भी आवेदक को अब सत्यापन प्रमाणपत्र देने की अनिवार्यता खत्म कर दी गई है।

अब इन डॉक्युमेंट्स से काम चल जाएगा
अब आधार कार्ड वोटर आईडी बैंक पोस्ट ऑफिस पासबुक राशन कार्ड ड्राइविंग लाइसेंस जन्म प्रमाणपत्र आदि में से कोई दो दस्तावेज लगाने से काम चल जाएगा। इसके साथ ही आवेदक को आपराधिक प्रष्ठभूमि न होने का स्वयं घोषित शपथपत्र लगाना होगा।

अब इन डॉक्युमेंट्स से काम चल जाएगा
अब आधार कार्ड वोटर आईडी बैंक पोस्ट ऑफिस पासबुक राशन कार्ड ड्राइविंग लाइसेंस जन्म प्रमाणपत्र आदि में से कोई दो दस्तावेज लगाने से काम चल जाएगा। इसके साथ ही आवेदक को आपराधिक प्रष्ठभूमि न होने का स्वयं घोषित शपथपत्र लगाना होगा।

हर व्यक्ति की क्लास 1 अधिकारी तक नहीं होती पहुंच
विदेश मंत्रालय के सेक्रेटरी ने कहा कि क्लास 1 ऑफिसर सीनियर गैजेटेड ऑफिसर होते हैं। डिस्ट्रिक्ट कलेक्टर एसपी असिस्टेंट कमिशनर तहसीलदार हर व्यक्ति की इन तक पहुंच नहीं होती। ऐसे में यदि कोई व्यक्ति सभी जरूरी डॉक्युमेंट्स जमा करता है तो हमें किसी मिडिलमैन की जरूरत नहीं। किसी भी आवेदक को अब सत्यापन प्रमाणपत्र देने की अनिवार्यता खत्म कर दी गई है। यह नियम तत्काल प्रभाव से लागू हो चुका है।

हर व्यक्ति की क्लास 1 अधिकारी तक नहीं होती पहुंच
विदेश मंत्रालय के सेक्रेटरी ने कहा कि क्लास 1 ऑफिसर सीनियर गैजेटेड ऑफिसर होते हैं। डिस्ट्रिक्ट कलेक्टर एसपी असिस्टेंट कमिशनर तहसीलदार हर व्यक्ति की इन तक पहुंच नहीं होती। ऐसे में यदि कोई व्यक्ति सभी जरूरी डॉक्युमेंट्स जमा करता है तो हमें किसी मिडिलमैन की जरूरत नहीं।

अब किसी भी आवेदक को तत्काल पासपोर्ट लेने के लिए आधार कार्ड लगाना होगा। इसके साथ में संलग्नक ई लगाना होगा और 12 लिस्टेड डॉक्युमेंट्स में से कोई दो डॉक्युमेंट देना होंगे। जो 18 साल से कम उम्र के हैं उन्हें स्टूडेंट फोटो आईडेंटिटी कार्ड बर्थ सर्टिफिकेट या राशन कार्ड लगाना होगा।

3 दिन के अंदर मिल जाता है पासपोर्ट-
तत्काल पासपोर्ट 3 दिनों के अंदर किसी भी आवेदक को इश्यू कर दिया जाता है। सामान्य पासपोर्ट के लिए जहां 1500 रुपए तो वहीं तत्काल पासपोर्ट के लिए 3500 रुपए फीस देना होती है। सामान्य पासपोर्ट जारी होने में कई बार 40 दिनों तक का समय लग जाता है सबसे ज्यादा देरी पुलिस वेरिफिकेशन में होती है।