पांच आरोपियो को गिरफ्तार किया गया रस्विस पर्यटकों पर हमला करने पर

नई दिल्ली। आगरा के फतेहपुर सिकरी में चार दिन पहले दो स्विस नागरिकों पर हुए हमले के मामले में सभी पांच आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है। हमले में घायल हुए व्यक्ति को गुरुवार को दिल्ली के अपोलो अस्पताल से छुट्टी दे दी गई।
यूपी के डीजीपी सुलखान सिंह ने ट्वीट करके जानकारी दी कि मामले की जांच के दौरान पांच लोगों को वारदात में शामिल पाया गया। सभी पांच आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है। प्रथमदृष्ट्या इन आरोपियों में दो बालिग और तीन नाबालिग दिख रहे हैं।

आगरा में चार दिन पहले हुए हमले में गंभीर रूप से घायल एक स्विस नागरिक को दिल्ली के अपोलो अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पर्यटकों की बेहतर सुरक्षा का वादा किया है। इस बीच विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने दो स्विस नागरिकों पर हुए हमले पर योगी से रिपोर्ट तलब की है।
सुषमा स्वराज ने मैरी ड्रॉज को अस्पताल से छुट्टी दिए जाने के बाद कहा कि उनके पुरुष मित्र क्विंटिन जेरेमी क्लार्क की हालत में सुधार हो रहा है। नई दिल्ली स्थित स्विस मंत्रालय ने 22 अक्टूबर को हुए हमले की पुष्टि कर दी है, और उन दोनों को सलाहकार सेवा प्रदान करने की बात कही है।

देश को शर्मसार करने वाली यह घटना उस वक्त की है, जब यह युवा जोड़ा आगरा के पास फतेहपुर सीकरी में रेलवे ट्रैक के किनारे चल रहा था। वहां बदमाशों ने उन पर हमला कर दिया.।हमले में घायल हुए क्लार्क के सिर पर फ्रैक्चर हुआ है और कई जगह चोटें आई हैं। यह घटना पांच दिन बाद योगी आदित्यनाथ के आगरा में ताजमहल दौरे के दिन सामने आई।
सुषमा स्वराज ने उत्तर प्रदेश सरकार से इस हमले की रिपोर्ट मांगी है. वहीं पर्यटन मंत्री केजी अल्फोंस ने घटना पर गंभीर चिंता जताई है। अल्फोंस ने मुख्यमंत्री को लिखे एक पत्र में कहा, “आप इस बात से सहमत होंगे कि ऐसी घटनाओं से हमारी छवि पर नकारात्मक प्रभाव पड़ता है। ऐसी घटनाएं भारत को पर्यटन स्थल के रूप में बढ़ावा देने के हमारे प्रयासों के लिए हानिकारक है.” उन्होंने कहा कि आरोपियों की पहचान के लिए एक तेज और त्वरित प्रतिक्रिया दिखाते हुए उनके खिलाफ एक तेज कार्रवाई की जानी चाहिए। यह सुनिश्चित किया जाना चाहिए कि दोषियों को सजा मिलेगी, ताकि ऐसी घटनाओं को रोकने के लिए हमारे प्रयासों का अच्छा संदेश जाए।

उत्तर प्रदेश के अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (अपराध) चंद्र प्रकाश ने कहा कि आरोपियों की गिरफ्तारी आगरा-राजस्थान सीमा पर की गई है। उन्होंने गिरफ्तार व्यक्तियों की पहचान उजागर करने से इनकार कर दिया।
पुलिस ने दोनों घायलों को आगरा के एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया था जहां उन्हें प्राथमिक इलाज दिया गया। पीड़ित दंपति ने मामला दर्ज कराने से इनकार कर दिया था और पुलिस से आगे के इलाज के लिए नई दिल्ली के अपोलो अस्पताल जाने को कहा। चंद्र प्रकाश ने कहा कि पुलिस ने खुद मामला दर्ज कर लिया है।

योगी आदित्यनाथ ने आगरा में कहा कि गिरफ्तारियां की जा रही हैं और मामले की पूरी जांच की जाएगी. उन्होंने कहा कि बदमाश और असामाजिक तत्व आगरा और देश को बदनाम कर रहे हैं और उनसे सख्ती से निपटा जाना जरूरी है। पर्यटकों को सुरक्षा मुहैया करना हमारी पहली प्रतिबद्धता है।
सीपीएम नेता वृंदा करात ने भारत में स्विस राजदूत को पत्र लिखकर मामले पर गंभीर चिंता व्यक्त की है. साथ ही देश के सबसे बड़े पर्यटक स्थल ताजमहल में पर्यटकों को न्यूनतम सुरक्षा प्रदान करने वाले अधिकारियों की विफलता पर कड़ा विरोध जताया है। उन्होंने कहा, “भारत के नागरिक के रूप में, मैं आपको आगरा और फतेहपुर सीकरी यात्रा के दौरान दो युवा स्विस नागरिकों के साथ हुई इस चौंकाने वाली और भयावह हिंसा पर लिखकर गहरा अफसोस व्यक्त करती हूं.” करात ने कहा, “यह हमारे लिए बतौर भारतीय एक शर्मसार कर देने वाली घटना है कि दो युवा पर्यटक प्यार के चिह्न को देखने के लिए आते हैं और उन्हें इस भयावह घटना का सामना करना पड़ता है। कृपया उनके जल्दी ठीक होने की हमारी कामना को उन तक पहुंचाएं।