तेजी से बढ़े ओमिक्रोन के मामले, राज्‍यों ने सख्‍त की पाबंदियां, केंद्र ने भी उठाए कदम

नई दिल्ली। देश में कोरोना के नए वैरिएंट का खतरा तेजी से बढ़ता जा रहा है। देश में ओमिक्रोन के कुल मामलों की संख्‍या साढ़े चार सौ के करीब पहुंच गई है। शनिवार को राजस्‍थान में ओमिक्रोन के 21, महाराष्‍ट्र में दो, केरल में एक, तेलंगाना में तीन, गुजरात में छह और कर्नाटक में सात नए मामले आए। बंगाल में एक डाक्टर भी इसकी चपेट में आ गया है। ओमिक्रोन के बढ़ते मामलों को देखते हुए केंद्र और राज्य सरकारों ने अपनी सतर्कता बढ़ा दी है। केंद्र सरकार ने ओमिक्रोन के ज्यादा मामले वाले 10 राज्यों में केंद्रीय टीमें तैनात की हैं।

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से जारी किए गए आंकड़ों के मुताबिक महाराष्ट्र में ओमिक्रोन के सबसे अधिक 110 मामले सामने आए। इसके बाद दिल्ली में 79, गुजरात में 43, राजस्‍थान में 43, तेलंगाना में 38, केरल में 37, तमिलनाडु में 34 और कर्नाटक में 31 मामले सामने आए हैं। ओमिक्रोन की बढ़ती चुनौती के बीच केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया ने लोगों से जल्द टीका लगवाने का आग्रह किया। अपने संदेश के साथ उन्होंने महाराष्ट्र के हिंगोली जिले के 108 वर्षीय एक बुजुर्ग की फोटो भी साझा की जो वैक्सीन लगवा रहे हैं। उन्होंने कहा कि जिन लोगों ने अब तक वैक्सीन नहीं ली है वे टीकाकरण करा कर देश को सुरक्षित करें।

समाचार एजेंसी पीटीआइ के मुताबिक केंद्र सरकार की ओर से 10 राज्यों केरल, महाराष्ट्र, तमिलनाडु, बंगाल, मिजोरम, कर्नाटक, बिहार, उत्तर प्रदेश, झारखंड और पंजाब में केंद्रीय टीमें तैनात की गई हैं। ये टीमें राज्य के स्वास्थ्य अधिकारियों के साथ मिलकर काम करेंगी और स्थिति पर लगातार नजर रखने के साथ केंद्र को ताजा अपडेट उपलब्ध कराएंगी। ये टीमें ट्रेसिंग-ट्रैकिंग के क्षेत्रों पर विशेष ध्यान देंगी। टीमों को कोविड उपयुक्त व्यवहार लागू कराने, अस्पताल के बिस्तरों की उपलब्धता, एंबुलेंस, वेंटिलेटर और मेडिकल आक्सीजन सहित पर्याप्त रसद, और टीकाकरण प्रगति पर भी ध्यान देना होगा।

इस बीच कोविड-19 विशेषज्ञ समिति (केरल) के सदस्य डा. टीएस अनीश ने कहा कि दो से तीन हफ्ते में ओमिक्रोन के मामलों की संख्या एक हजार तक पहुंच सकती है। वहीं डब्‍ल्‍यूएचओ की मुख्य वैज्ञानिक सौम्या स्वामीनाथन ने चेतावनी दी है कि तमिलनाडु में ओमिक्रोन के मामलों में तेजी से बढ़ोतरी देखी जा सकती है। ओमिक्रोन इतनी तेजी से फैल सकता है कि तैयारी के लिए समय नहीं मिलेगा।

ओमिक्रोन से निपटने के लिए कई राज्य सरकारों ने भी अपने स्तर पर प्रबंध किए हैं। रात्रि कफ्र्यू के साथ ‘वैक्सीन नहीं तो प्रवेश नहीं’ नियम को सख्ती से लागू कराया जा रहा है। कोरोना और ओमिक्रोन के बढ़ते मामलों को देखते हुए हरियाणा सरकार ने रात्रि में 11 बजे से सुबह 5 बजे तक नाइट कर्फ्यू लगाने का एलान किया है। इस दौरान सिर्फ जरूरी सेवाएं खुली रहेंगी। गुजरात, मध्य प्रदेश और यूपी भी ऐसे कदम उठा चुके हैं। गुजरात के आठ प्रमुख शहरों (अहमदाबाद, सूरत, राजकोट, वडोदरा, गांधीनगर, भावनगर, जामनगर और जूनागढ़) में भी नाइट कर्फ्यू लगाया गया है।