‘ओम नमः शिवाय’ के जरिये विश्व में प्रसिद्द हुआ यह विदेशी फुटबालर

हिंदु धर्म और भारतीय संस्कृति को मानने वाले लोग वैसे तो दुनिया भर में मिल जायेंगे। लेकिन कुछ ऐसे लोग भी है जो गैर हिंदू और गैर भारतीय है, लेकिन फिर भी उनके दिल में हिंदू धर्म और हिंदू देवताओं के प्रति ग़जब की दीवानगी देखने को मिलती है। कुछ ऐसा ही इन दिनों आर्सेनल के एक फुटबॉलर में देखा जा रहा है। खबरों के अनुसार बताया जा रहा है कि आर्सेनल के फुटबॉलर थियो वाल्कोट ने अपनी पीठ पर ॐ नमः शिवाय का टैटू गुदवाया है। आपको बता दें कि ॐ नमः शिवाय भगवान शिव का बीज मंत्र है जो उनकी आराधना के लिए याद किया जाता है। इस फुटबॉलर ने इस मंत्र की तस्वीर के साथ अभी हाल ही में सोशल मीडिया पर एक मैसेज भी शेयर किया है जिसमे उन्होंने बताया कि यह मंत्र भय, घृणा को ख़त्म करने वाला और अंत तक प्रफुल्लित करने वाला है।

वाल्कोट ने अपनी पीठ पर इसका टैटू बनाकर सोशल मीडिया पर शेयर किया है। वाल्कोट ने अपने इस टैटू को इंग्लिश प्रीमियर लीग से पहले दुनिया के सामने लाकर सबको हैरान कर दिया है। इंग्लिश प्रीमियर फुटबॉल के बड़े टूर्नामेंट में से एक है। आर्सेनल पिछले साल के इसी टूर्नामेंट में छठे स्थान पर था, लेकिन इस बार उम्मीद की जा रही है कि आर्सेनल पिछले साल से बेहतर परफॉरमेंस करके खिताब जीतेगा। आपको बता दें कि ये पहला मौका नहीं है जब किसी इंटरनेशनल सेलेब्रिटी ने इस तरह से हिंदू माइथोलॉजी के प्रति अपना प्रेम दिखाया हो। इससे पहले भी कई लोग ग्लोबली भारतीय संस्कृति और हिंदू देवी-देवता के प्रति अपनी दीवानगी जाहिर कर चुके है। फिलहाल वाल्कोट के इस ॐ नमः शिवाय टैटू ने भारतीय प्रसंशकों के बीच उनको और भी ज्यादा पोप्युलर कर दिया है।