बुलंदशहर उपचुनाव में दहाड़े CM योगी, कहा- ‘अब मुजफफरनगर दंगा और कवाल कांड नहीं होंगे’

बुलंदशहर | सीएम योगी आदित्यनाथ गुरुवार को बुलंदशहर में उपचुनाव की जनसभा में आगामी 2022 के विधानसभा की तैयारी के मूड में नजर आए। सीएम का अंदाज और आगाज बिल्कुल 2017 के विधानसभा चुनाव जैसा दिखा। इस दौरान सीएम ने वेस्ट यूपी के लोगों की तारीफ करते हुए कहा कि यहां के लोग सीधे-सज्जन इंसान हैं, मगर दो टूक कहने वाले हैं। प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि प्रदेश में कानून का राज है। अब मुजफफरनगर दंगा और कवाल कांड नहीं होंगे। कैराना की तरह पलायन भी नहीं होगा। गुंडे-माफिया और दंगाइयों को उनकी सही जगह पहुंचाया जाएगा।

वेस्ट यूपी के मुजफ्फरनगर दंगा, कैराना पलायन, शुगर मिल, कांवड़ यात्रा, पुलिस भर्ती सहित उन तमाम मुद्दों को सीएम योगी आदित्यनाथ ने जनसभा में उठाया जिन पर वह 2017 में खूब मुखर होकर बोलते थे। इसे 2022 में फिर 2017 को दोहराने की तैयारी की शुरुआत माना जा रहा है। योगी आदित्यानाथ के भाषण की वही धार, वही तेवर, वही अंदाज दिखा। सीएम ने कहा भी कि 2017 के विधानसभा चुनाव की पहली सभा भी बुलंदशहर से की थी और अब भी बुलंदशहर से चुनाव प्रचार की शुरुआत कर रहे हैं।

सीएम योगी आदित्यनाथ ने अपने 23 मिनट की भाषण की शुरुआत दिवंगत विधायक वीरेन्द्र सिंह सिरोही को श्रद्धांजलि देने से करते हुए फिर जोशीले अंदाज में जयघोष लगवाए। पिछली विधानसभा चुनाव की तरह इस बार भी सीएम के भाषण में कवाल कांड, कैराना पलायन छाया रहा। पिछली सरकारों को घेरते हुए अपनी सरकार की उपलब्धियों को भी बखूबी ढंग से जनता के सामने सहज अंदाज में रखा।

चौ.चरण सिंह से किसानों को रिझाने का प्रयास –
सीएम ने पूर्व सीएम चौ.चरण सिंह का जिक्र करते हुए बागपत में रमाला मिल के विस्तारीकरण की बात कही। साथ ही पुलिस भर्ती में बागपत के एक ही गांव के 29 युवाओं की भर्ती का जिक्र किया। किसानों के महीसा कहे जाने वाले चौ.चरण सिंह के सपनों को साकार करने का दावा भाजपा सरकार के द्वारा किया गया। सीएम योगी आदित्यानाथ ने विकास की बात मजबूती से रखते हुए नोएडा फिल्म सिटी, जेवर एयरपोर्ट से युवाओं को रोजगार की बात कही। विकास को पंख लगने दावा किया।