सांसद आजम खां व सीओ आले हसन समेत कई लोगों को नोटिस जारी

सपा सांसद आजम खां और सेवानिवृत्त सीओ आले हसन समेत छह लोगों को नोटिस जारी करके उनके खिलाफ दर्ज मुकदमों की विवेचना कर रही शहर कोतवाली और गंज कोतवाली पुलिस ने बयान दर्ज कराने के लिए तलब किया है। पुलिस ने सात अलग-अलग मामलों में नोटिस जारी करते हुए एक सप्ताह में बयान दर्ज कराने को उपस्थित होने को कहा है। जांच टीम ने कुछ नोटिस आजम खां के आवास पर चस्पा किए हैं, जबकि कुछ डाक से भेजे गए हैं।

सांसद आजम खां और उनके करीबियों पर 88 मकदमें पिछले दिनों दर्ज किए गए थे। संबंधित थानों की पुलिस इन मामलों की विवेचना कर रही है। शहर कोतवाली में यतीमखाना प्रकरण को लेकर 12 मुकदमे दर्ज किए गए थे। इन सभी में सांसद आजम खां और सेवानिवृत सीओ आले हसन खां समेत उनके कई करीबी नामजद हैं। इन सभी की जांच शहर कोतवाली पुलिस कर रही है। पुलिस ने सांसद आजम खां, सेवानिवृत सीओ आले हसन खां, ठेकेदार इस्लाम गुड्डू और सिपाही धर्मेन्द्र कुमार को नोटिस जारी किए हैं। इनसे सप्ताह भर में किसी भी दिन आकर बयान दर्ज कराने को कहा गया है।

गंज कोतवाली में भी आजम खां और विधायक अब्दुल्ला आजम समेत कई लोगों पर रिपोर्ट दर्ज हैं। इनके अलावा डूंगरपुर में लोगों के आवास तोड़ने और लूटपाट करने के आरोप में रिपोर्ट दर्ज कराई थी। इनकी विवेचना की जा रही है। गंज कोतवाली पुलिस ने भी सांसद आजम खां, उनके पुत्र विधायक अब्दुल्ला आजम, सेवानिवृत सीओ आले हसन खां, आजम खां के मीडिया प्रभारी फसाहत अली खां शानू को तीन दिन में बयान दर्ज कराने के लिए छह नोटिस दिए गए हैं। गंज पुलिस ने तीन नोटिस सांसद आजम खां के आवास पर चस्पा किए हैं और तीन नोटिस डाक से भेजे गए हैं। पुलिस ने बयान दर्ज कराने को कहा है।

शहर कोतवाल रामकुमार शर्मा और गंज कोतवाल रामवीर सिंह ने बताया कि हमारे थानों में जो मुकदमे दर्ज हैं, उनकी विवेचना की जा रही है। विवेचना पूरी करने के लिए आरोपियों को बयान दर्ज कराने के लिए नोटिस दिए गए हैं। कुछ नोटिस आवास पर चस्पा किए हैं और कुछ डाक से भेजे गए हैं।