कोरोना वायरस का खौफ, UP की मस्जिदों में नहीं हुई जुमे की नमाज

लखनऊ | कोरोना वायरस से संक्रमण से बचाव के लिए जुम्मे के मौके पर मुस्लिमों ने अपील मानी और नमाज के लिए मस्जिदों का रुख नहीं किया। लोगों ने घरों में ही नमाज अदा की और कोरोना वायरस से निजात के लिए दुआ मांगी। अलीगढ में लोगों ने मस्जिदों से दुरी बनाई और घर ही नमाज अदा की | शहर मुफ़्ती ने गुरूवार को ही घरों में नमाज पढ़ने की अपील की थी |

मेरठ में इमलियान मस्जिद पर ताला लगा रहा। बाहर पुलिस का पहरा था। एडीजी और आईजी के साथी डीएम व एसएसपी ने पूरे शहर का दौरा किया। शाही जामा मस्जिद में भी नमाजी नहीं पहुंचे वहां एक दो लोग ही मौजूद थे मस्जिद से अजान हुई और लोगों ने घरों में ही नमाज अदा की।

कानपुर में पहली बार कोरोना से सावधानी के चलते जुमे की नमाज मस्जिदों में जमात (समूह) के साथ नहीं हुई। कुछ मस्जिदों में बाहर संदेश चस्पा कर ताला डाल दिया गया। लोगों ने घरों में इसके स्थान पर जोहर की नमाज अदा की। मस्जिदों के बाहर एहतियातन पुलिस बल तैनात किया गया था।

सहारनपुर में भी लोगों ने जुमे की नमाज अपने घरों में ही पढ़ी। जामा मस्जिद समेत देवबन्द की मस्जिदों में जुमे की नमाज नहीं हुई। मस्जिदों पर ताले लटके रहे। लॉकडाउन को लेकर प्रशासन ने धर्मिक स्थलों पर जाने के लिए प्रतिबंध लगा दिया था। इसके साथ ही उल्लंघन करने वालों के खिलाफ करवाई की बात कही थी। शुक्रवार को लोगों ने जुमे की नमाज मस्जिदों में नही अपने घरों में पढ़ी। मस्जिदो में इमाम नही गए और मस्जिदों के गेट पर ताले लटके रहे।