अलीगढ़ के सपा नेताओं को अखिलेश यादव के मंच से न बोल पाने का मलाल, अंदरूनी कलह शुरू, खैर विधानसभा अध्यक्ष ने दिया इस्तीफा, लगाया ये बड़ा आरोप-

अलीगढ | अखिलेश यादव की किसान पंचायत के बाद सपा में अंदरूनी कलह शुरू हो गई है । सपा नेताओं को मंच पर न बोलने देने का मलाल है । कुछ पूर्व विधायक और जिले के बड़े नेता मंच पर अखिलेश यादव के समक्ष बोलने को उम्मीद लगाए हुए थे और भाषण तैयार करके लाए थे लेकिन उनके अरमान टूट गए । सपा के पूर्व विधायकों, जिला कमेटी और कुछ प्रमुख नेताओं की ये उम्मीद तो टूटी ही, जिले में किरकिरी शुरू हो गई । दरअसल, दो मिनट बोलने की आस लगाए बैठे नेताओं को उस वक्त झटका लगा जब अचानक जिलाध्यक्ष गिरीश यादव ने पूर्व विधायकों, जिलाध्यक्षों, जिला कमेटी के पदाधिकारियों के बारे में एलान किया कि वक्त की कमी के कारण उनका संबोधन नहीं कराया जाएगा। इतना सुनते ही इन नेताओं का चेहरा लाल हो गया। नेताओं। के समर्थकों में भी मायूसी छा गई।

हालांकि अखिलेश यादव की उपस्थिति के लिहाज और अनुशासन प्रदर्शन करने के कारण मंच पर कुछ नहीं बोल सके, लेकिन अखिलेश की विदाई के बाद ये गुस्सा फूटा। पूर्व विधायकों सहित जिला कमेटी के पदाधिकारियों ने इस पर बेहद कड़ी नाराजगी जताई । खैर के कुछ सपा पदाधिकारियों का गुस्सा ये था कि उनको मंच तक नसीब नहीं हुआ। मंच पर व्यवस्था संभाल रहे सपा नेताओं पर आरोप लग रहे हैं कि उन्होंने जानबूझ कर ऐसा किया ।उपेक्षा से आहत होकर खैर विधानसभा क्षेत्र अध्यक्ष पप्पन वर्मा ने पद से इस्तीफा दे दिया है । पप्पन को मंच पर जगह नहीं मिल पाई थी । पूरी महापंचायत चौ. बिजेंद्र सिंह के हाथों में चली गई। उन्होंने अपने खास लोगों को महत्व दिया। उनको मंच पर बुला कर संबोधन कराया गया। हालांकि, जिलाध्यक्ष ने कहा है कि समय की कमी के कारण पूर्व सीएम को जल्द ही वापस जाना था। इसलिए चाहते हुए भी वह स्थानीय लोगों का संबोधन नहीं करा पाए।

अखिलेश के जाने के बाद जिले भर के सपा नेताओं में ये बात बेहद चर्चा में है। सपा प्रदेश नेतृत्व को भी इससे अवगत कराया जा रहा है, जिससे पूर्व सीएम तक अपनी बात पहुंचाई जा सके। यह अलग बात है कि अखिलेश यादव ने किसानों की भीड़ को देखते हुए महापंचायत के आयोजन में लगे सभी सपाइयों की सराहना की, लेकिन उनकी विशेष सराहना जिलाध्यक्ष गिरीश यादव और पूर्व सांसद बिजेंद्र सिंह के खाते में आई। जिससे जमीनी स्तर पर काम करने वाले दूसरे नेता खफा हुए। मंच पर पूर्व विधायक जफर आलम, जमीरउल्लाह, वीरेश यादव, ठा. राकेश सिंह, जिला उपाध्यक्ष अहमद सईद सिदीकी, रत्नाकर पांडेय, संजय यादव, डा. कृपाल सिंह यादव सहित अन्य नेता और जिला सचिव मुकेश माहेश्वरी मौजूद थे।

सपा नेता संजय यादव ने भेंट की गदा-

शहर के प्रसिद्ध कारोबारी और सपा नेता संजय यादव ने अखिलेश यादव को गदा भेंट की और उनका अभिनंदन किया ।