अलीगढ़ में DM की सूझबूझ से प्रशासन को मिली बड़ी सफलता, जीवनगढ़ धरना समाप्त, रोड शुरू

अलीगढ़ । सोमवार से अनूपशहर -क्वार्सी बाईपास पर चल रहा धरना शनिवार देर शाम प्रशासन की सूझ बूझ से हट गया । ऊपरकोट उपद्रव के बाद जीवनगढ़ पुलिया पर नागरिकता संशोधन कानून, एनआरसी, एनपीआर के विरोध में चल रहे धरने को खत्म कराने को लेकर इलाके के मुअज्जिज लोग आपस में बंटे नजर आए। कुछ धरने को खत्म करने का विरोध कर रहे थे, तो कुछ समर्थन थे। इसी बात को लेकर मुअज्जिज, दुकानदारों में दिन भर जमकर नोकझोंक होती रही।

प्रशासन की कूटनीति से किसी तरह स्थानीय लोगों व नेताओं के मनाने समझाने पर धरना हट गया। देर शाम 9 बजे क्वार्सी बाईपास पर यातायात सुचारु होने के बाद एक तरफ जहां शासन और गृह विभाग को पूरी रिपोर्ट भेजी गई, जबकि एसएसपी ने अपने सोशल मीडिया प्लेटफार्मों के जरिये जीवनगढ़ वालों को धन्यवाद दिया। इसे तरह-तरह से ट्रोल किया जाता रहा। कुल मिलाकर सोमवार दोपहर 3 बजे से चल रहे धरने के चलते शनिवार शाम कुल 125 घंटे बाद यातायात सुचारु हो सका।

सोमवार दोपहर तीन बजे से बीच सड़क पर जाम लगाकर धरने पर बैठी महिलाओं को पहले ही दिन से बाहरी करार देकर स्थानीय लोग बचने की कोशिश कर रहे थे। मगर उनके समर्थन में काफी संख्या में युवाओं की भीड़ इधर-उधर खड़ी रहती थी। साथ ही महिलाओं को धूप आदि से बचने के लिए सड़क पर तंबू भी लगवा दिए गए थे। इस तरह धरना लगातार चल रहा था। इस मार्ग पर यातायात बाधित होने के कारण पुलिस ने क्वार्सी चौराहे से और उधर महेशपुर फाटक से वाहनों की आवाजाही बंद कर रखी थी। वैसे तो पहले दिन से धरना खत्म कराने के हर संभव प्रयास किए जा रहे थे। शुक्रवार को भी दिन भर बहुत तेज कवायद थी। मगर, शनिवार सुबह से जैसे पुलिस प्रशासनिक इंतजाम वहां देखे जा रहे थे, उसे देखकर ही लोग अनुमान लगा रहे थे कि आज धरना हटवाया जाएगा। इसी बीच सुबह से ही धरना खत्म करने की कवायद शुरू हो चुकी थी। देर शाम प्रशासन को धरना हटवाने में सफलता मिल गयी ।