नई दिल्ली : बहादुर ‘दिशा’ ने लुटेरों को दबोचा, नही लुटने दिया पति के गिफ्ट का ‘मोबाईल’, पुलिस ने किया सम्मानित

शुभम उपाध्याय/नई दिल्ली | देश की राजधानी दिल्ली में लुटेरे बेखैफ़ हो चलें हैं लेकिन गत शुक्रवार शाम बहादुर ‘दिशा’ ने लुटेरों को ऐसा सबक सिखाया कि अब राजधानी में उनकी बहादुरी की तारीफ हो रही हैं | दिल्ली पुलिस ने भी दिशा को हिम्मत और बहादुरी के लिए एक हजार रूपये का इनाम और प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया है | दिशा की बहादुरी से तीन लुटेरों को धर दबोचा गया | विशेष बात यह है कि यह सब दिशा ने अपने पति द्वारा गिफ्ट दिए गए मोबाईल को लुटेरों से बचाने के लिए किया |

गत शुक्रवार शाम को शाहदरा जिले के सोमनाथ मन्दिर सीतापुर निवासी दिव्यांशी शुक्ला उर्फ़ दिशा और उनके पति अभिषेक शुक्ला प्राइवेट नौकरी करते हैं | दिशा शुक्ला  किसी काम से शाहदरा आई थी, जैसे ही वह शालीमार पार्क विस्तार के करीब पहुंची स्कूटी सवार तीन लडको ने उनका मोबाईल झपट लिया | दिशा को मोबाईल उसके पति ने गिफ्ट दिया था | अपने प्रिय के गिफ्ट को बचाने के लिए दिशा ने एक लड़के का हाथ पकड़ लिया जिससे स्कूटी गिर गयी | शोर मचाने पर भीड़ भी इकठ्ठा हो गयी | एक लुटेरे को दिशा ने काबू में किया तो वहीँ दो अन्य को भीड़ ने दबोच लिया | इस दौरान दिशा और भीड़ ने लुटेरों की जमकर धुनाई की | सूचना पर पुलिस भी पहुँच गयी | पकडे गए लुटेरों के नाम फैजान, वसीम है | तीसरा नाबालिग है |

पुलिस अब दिशा की हिम्मत की दाद दे रही है | पुलिस उपयुक्त नुपुर प्रसाद ने दिशा को बहादुरी के लिए एक हजार रुपे का इनाम और प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया है | राजधानी में दिशा द्वारा लुटेरों को बहादुरी से पकडवाने के चर्चे हो रहे हैं | लोग उनकी जमकर सराहना कर रहे हैं |