नए पर्यटन मंत्री बोले- पर्यटक अपने देश में बीफ खाएं , फिर भारत आयें

नवनियुक्त पर्यटन मंत्री अलफोंस कनन्नथानम ने कहा है कि भारत घूमने आ रहे विदेशी लोग अपने देश में बीफ खाकर यहां पर आएं। ओडिशा में इंडियन एसोसिएशन ऑफ टूर ऑपरेटर के 33वें सालाना समारोह में बोलते हुए अलफोंस कनन्नथानम ने यह बात कही। वहां उनसे पूछा गया था कि कुछ राज्यों में बीफ पर जो बैन लगा हुआ है क्या उससे भारत में होने वाली मेहमान नवाजी पर कोई फर्क पड़ेगा? इसके जवाब में अलफोंस कनन्नथानम ने कहा वे लोग अपने देश में बीफ खाएं और फिर भारत आयें। इससे पहले अलफोंस कनन्नथानम ने कहा था कि केरल के लोगों को बीफ मिलता रहेगा। उन्हों कहा था जैसे गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर ने कहा था कि राज्य में बीफ की कमी नहीं होगी वैसे ही केरल में भी लोगों को यह मिलता रहेगा। यह बात उन्होंने पर्यटन मंत्री के तौर पर नियुक्त होने के बाद कही थी।

अलफोंस केरल कैडर के 1979 बैच के अधिकारी हैं। उन्होंने कहा था कि भाजपा ने यह कभी नहीं कहा कि गोमांस नहीं खाया जा सकता। उन्होंने यह भी कहा था कि भाजपा के पास यह कहने का अधिकार नहीं है कि गोमांस नहीं खाया जा सकता है। हम देश के किसी भी हिस्से में लोगों के खानपान की आदतें तय नहीं कर सकते हैं। यह फैसला करना लोगों का काम है कि उन्हें क्या खाना है।

अलफोंस ने दिल्ली में अतिक्रमण के खिलाफ व्यापक अभियान चला कर कम से कम 15 हजार अवैध इमारतें हटवाईं थीं। उस वक्त वह प्रशासनिक अधिकारी थे। कन्नाथनम को राजनीति का लंबा अनुभव नहीं है लेकिन प्रशासनिक अधिकारी के तौर पर उन्होंने नेताओं और उनके काम काज को काफी नजदीक से देखा है। सेवानिवृत्ति के बाद वह केरल के कंजीरापल्ली से 2006 -2011 के लिए विधानसभा सदस्य चुने गए। इसके अलावा वह राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2017 निर्माण समिति के सदस्य भी हैं।