MP की सड़कें अमेरिका से बेहतर, पढ़िए शिवराज सिंह चौहान का यह बयान

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि मध्य प्रदेश में अमेरिका से बेहतर सड़के हैं। अमेरिकी प्रवास पर गए चौहान ने वहां मोदी सरकार की तारीफ की और कहा कि पीएम मोदी के नेतृत्व में भारत का आर्थिक विकास तेजी से हो रहा है।

वॉशिंगटन डीसी में रसेल सीनेट हॉल में भारतीय दूतावास के सहयोग से पंडित दीनदयाल उपाध्याय फोरम के शुभारंभ के मौके पर चौहान ने कहा, ‘अगर किसी राज्य को आगे बढ़ाना है तो बुनियादी ढांचे के बिना वो आगे नहीं बढ़ सकता इसके लिए सबसे पहले हमने सड़कें बनवाई।’ शिवराज ने आगे कहा कि सड़कें भी ऐसी कि जब मैं यहां वॉशिंगटन में एयरपोर्ट में उतरा और सड़कों पर चलकर आया तो मुझे लगा कि मध्य प्रदेश की सड़कें यूएस से बेहतर हैं।

सीएम शिवराज सिंह चौहान ने मुस्कुराते हुए आगे कहा कि मैं यह सिर्फ कहने के लिए नहीं कहा रहा। सीएम ने आगे कहा कि हमने मध्य प्रदेश में करीब 1.75 लाख किमी सड़कें बनाई। ये सड़कें सभी गांव को जोड़ते हुए बनाई गई। शिवराज ने यहा पीएम मोदी की तारीफ करते हुए कहा कि आज भारत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में आर्थिक प्रगति के शीर्ष पर है और जीएसटी खेल बदलने वाला टैक्स सुधार है।

चौहान ने आगे कहा कि दुनिया में अमीरी-गरीबी का अंतर काफी बढ़ रहा है। इसका असर शांति पर पड़ा है। शिवराज ने कहा कि दुनिया में सिर्फ दो-तीन प्रतिशत लोग ऐसे हैं, जिनका 70 फीसदी प्राकृतिक संसाधनों पर कब्जा है।

मध्य प्रदेश सरकार के जनसंपर्क विभाग द्वारा जारी विज्ञप्ति के मुताबिक मुख्यमंत्री चौहान ने फोरम में कहा, ‘विश्व में बढ़ रही भौतिकवादी प्रवृत्ति से अमीरी और गरीबी का अंतर काफी बढ़ गया है। वैश्विक समाज में एकरूपता लाने के लिए जरूरी है कि अमीरी-गरीबी के बीच के अंतर को कम से कम किया जाए।’

दीनदयाल के एकात्म मानववाद से दूर होंगी दिक्कतें’
चौहान ने कहा, ‘पंडित दीनदयाल उपाध्याय के एकात्म मानववाद के सिंद्धात से प्रेरणा लेकर अमेरिका सहित संपूर्ण विश्व के सामने वर्तमान में व्याप्त ग्लोबल वार्मिंग, गरीबी, बेरोजगारी, महिला उत्पीड़न और असमानता जैसी चुनौतियों का मुकाबला किया जा सकता है।’ इस मौके पर चौहान ने मध्य प्रदेश में गरीबी को कम करने के लिए चल रहे प्रयासों का जिक्र किया। उन्होंने कहा कि मध्य प्रदेश दुनिया में संभवत: पहला उदाहरण है, जहां पांच वर्षों से कृषि विकास दर लगातार 20 प्रतिशत कायम है।