मानसून ने तोड़ा 58 सालों का रिकॉर्ड, मानसून अभी 10 अक्टूबर तक रहेगा सक्रिय

मानसून का सीजन खत्म हो गया है। लेकिन, मौसम विभाग का कहना है कि मानसून अभी सक्रिय रहेगा। उत्तर भारत से इसके छंटने की शुरुआत 10 अक्तूबर से होगी। जबकि, इसकी सामान्य तिथि एक सितंबर की है। यानी इस बार मानसून 40 दिन तक अधिक सक्रिय रहेगा।मौसम विभाग के अनुसार, इससे पहले 1961 में एक अक्टूबर को मानसून छंटना शुरू हुआ था। जबकि, दूसरा रिकार्ड 2007 का है, जब मानसून 30 सितंबर से छंटने लगा था। मानसून के छंटने में देरी को जलवायु परिवर्तन के प्रभावों के रूप में भी देखा जा रहा है।


मौसम विभाग के महानिदेशक एम. महामात्र ने कहा कि मानसून के चार महीने पूरे हो गए हैं। इसके बावजूद मानसून अभी सक्रिय है। एक अक्तूबर के बाद जो मानसूनी बारिश होगी, उसे मानसून सीजन में नहीं जोड़ा जाएगा। विभाग के अनुसार, इस बार सामान्य से 110 फीसदी बारिश हुई। हालांकि अप्रैल में मौसम विभाग ने सामान्य से 96 फीसदी बारिश की संभावना व्यक्त की थी। सामान्य बारिश 88 सेमी तय की गई है। मौसम विभाग के अनुसार, 36 मौसम संभागों में से 12 में ज्यादा बारिश हुई है। 19 में सामान्य, जबकि पांच में सामान्य से कम बारिश हुई। दिल्ली-हरियाणा और चंडीगढ़ में 42% कम बारिश हुई

25 साल बाद सर्वाधिक वर्षा ’ 1994 के बाद यह दूसरा मौका है, जब सामान्य से 110 फीसदी बारिश मानसून में हुई हो ’ 2001-2019 के दौरान 2007 को छोड़कर पूर्वोत्तर में सामान्य से कम बारिश दर्ज की गई है। साफ है कि पूर्वोत्तर में बारिश घट रही है ’ 1931 के बाद यह पहला मौका है, जब जून में 30 फीसदी कम बारिश होने के बावजूद कुल बारिश सामान्य से अधिक हुई हो।