मोदी सरकार में रेलवे का बुरा हाल, शताब्दी भी 5 घंटे लेट, यात्री बेहाल

लखनऊ | चुनावों के दौरान देश को अच्छे दिन आने के सपने दिखाने वाले पीएम नरेन्द्र मोदी की सरकार में रेलवे के बुरे दिन चल रहे हैं | देश के किसी न किसी कोने से आये दिन रेल दुर्घटनाओं की खबरे आम हो गयी हैं तो वहीँ अब ट्रेन भी समय से नहीं चल पा रही हैं | बुलेट ट्रेन के सपने देखने वाले देशवासी अब मोजूदा ट्रेनों के समय से चलने को लेकर तरस रहे हैं | शताब्दी जैसी ट्रेने देरी से चल रही हैं | वहीँ कई रेल रद्द कर दी गयी हैं | हजारो यात्रिओ को अपने गंतव्य तक पहुँचने में दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है | लोग मोदी सरकार में रेलवे की इस हालात की भर्त्सना कर रहे हैं |

बताते चलें कि रेल दुर्घटनाओ के चलते रेल मंत्रालय, रेल मंत्री और मोदी सरकार की काफी किरकिरी हो रही है | कैफियत एक्सप्रेस के दुर्घटना ग्रस्त होने के बाद से सरकार की और ज्यादा किरकिरी हो रही है | रही सही कसर ट्रेनों के लेट होने और रद्द होने ने पूरी कर दी है | नई दिल्ली से लखनऊ तक जाने वाली शताब्दी एक्सप्रेस जैसी ट्रेन 5 घंटे देरी से चल रही है | अलीगढ में इस ट्रेन को 8 बजे पहुंचना था लेकिन वह अब 1 बजे पहुंचेगी | ट्रेन के लेट होने से यात्रियों के काम प्रभावित हो गए हैं | कई ट्रेनों के रूट बदल दिए गए हैं तो वहीँ कई ट्रेन रद्द हैं |

मोदी सरकार में रेलवे के बुरे दौर ने सरकार के दावो की पोल खोल दी है | देश का आमजन अब खुलकर खुद को ठगा सा महसूस कर रहा है | राजनैतिक विश्लेषको की माने तो आने वाले लोकसभा चुनावों में रेलवे की बदतर व्यवस्था का खामियाजा मोदी सरकार और भाजपा को भुगतना पड़ सकता है |