2019 से पहले कर्नाटक में मोदी मैजिक फुस्स, कांग्रेस गठबंधन ने भाजपा को 4:1 से रौंदा

नई दिल्ली । कर्नाटक में तीन लोकसभा और दो विधानसभा सीटों के लिए हुए उप-चुनाव में कांग्रेस-जेडीएस गठबंधन ने बीजेपी के मुकाबले शानदार 4:1 जीत दर्ज की है। इस चुनाव में गठबंधन ने बीजेपी को बड़ा झटका देते हुए करीब डेढ़ दशक तक उसका गढ़ रही बेल्लारी सीट को उससे छीन लिया।

कांग्रेस ने इसे अगले साल होने जा रहे विधानसभा चुनाव से पहले का टीजर करार दिया है। गठबंधन के प्रत्याशी ने दो लोकसभा और दो विधानसभा सीट यानि जमखंडी, रामनगर विधानसभा और बेल्लारी, मांड्या संसदीय क्षेत्र पर जीत दर्ज की है। बेल्लारी लोकसभा सीट पर कांग्रेस के वीएस उगरप्पा ने बीजेपी उम्मीदवार जे. शांता को करीब एक लाख से ज्यादा वोटों के अंतर से मात दी। जमखंडी में कांग्रेस के एएस न्यामगौडा ने बीजेपी के सुबाराव को 39,480 मतों के अंतर से हराया।

बेल्लारी लोकसभा सीट पर कांग्रेस प्रत्याशी वी एस उगरप्पा 2,43,161 मतों के अंतर से विजयी हुए। उन्होंने भाजपा की जे शांता को हराया जो रेड्डी बंधुओं के मुख्य सहयोगी तथा इसी सीट से पूर्व सांसद बी श्रीरामुलु की बहन हैं। इस साल मई में हुए विधानसभा चुनाव में जीत के बाद सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी बीजेपी को सत्ता से बाहर का रास्ता दिखाने के बाद कांग्रेस-जेडीएस गठबंधन के लिए यह बेहद महत्वपूर्ण टेस्ट माना जा रहा था।

रामनगर विधानससभा सीट पर मुख्यमंत्री एच डी कुमारस्वामी की पत्नी अनिता कुमारस्वामी ने अपने निकटतम प्रतिद्वंद्वी भाजपा के एल. चंद्रशेखर पर 1,09,137 मतों के बड़े अंतर से जीत हासिल की। चंद्रशेखर ने चुनाव से अपना नाम वापस ले लिया था लेकिन आधिकारिक तौर पर वह पार्टी के उम्मीदवार बने रहे। चंद्रशेखर चुनाव से पहले भाजपा में शामिल हो गए थे लेकिन कुछ ही हफ्ते वापस कांग्रेस का दामन थामकर उन्होंने भगवा पार्टी को बड़ा झटका दिया था।

उत्तरी कर्नाटक में पड़ने वाली, जामखंडी विधानसभा सीट पर कांग्रेस के उम्मीदवार आनंद न्यामगौड़ा ने 39,480 मतों के अंतर से भाजपा के श्रीकांत कुलकर्णी को हराया। सड़क हादसे में पिता और विधायक सिद्धू न्यामगौड़ा की मौत के बाद उन्हें सहानुभूति का लाभ मिला।

वहीं मांड्या लोकसभा सीट पर जद(एस) के शिवरामे गौड़ा भाजपा के नए चेहरे एवं पूर्व अधिकारी डॉक्टर सिद्धरमैया से 3.24 लाख मतों से आगे चल रहे हैं। पुराने मैसुरु क्षेत्र के वोक्कालिगा पट्टी में पड़ने वाला मांड्या जद(एस) का परंपरागत गढ़ माना जाता है।

गौरतलब है कि शनिवार को हुए मतदान में औसतन 67 फीसदी वोट पड़े थे। शिवमोग्गा, बल्लारी और मांड्या लोकसभा सीट पर क्रमश: 61.05, 63.85 और 53.93 फीसदी मतदान दर्ज किया गया था। रामनगर और जामखंडी विधानसभा सीटों पर क्रमश: 73.71 और 81.58 फीसदी मतदान हुआ था।