मोदी और मर्केल के बीच कई भारत-जर्मनी अंतर सरकारी मुद्दों पर बातचीत

बर्लिन। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जर्मनी के साथ द्विपक्षीय रणनीतिक संबंधों का रोडमैप तैयार करने के लिए आज यहां जर्मन चांसलर एंजेला मर्केल के साथ चौथे चरण की भारत-जर्मनी अंतर सरकारी वार्ता (आईजीसी) की। जर्मन चांसलर के कार्यालय यानी चांसलरी में मोदी का सैन्य सम्मान के साथ समारोहपूर्वक स्वागत किया गया। यहां मर्केल और वरिष्ठ जर्मन अधिकारियों ने उनका अभिवादन किया। प्रधानमंत्री ने चांसलर का अपने साथ आए भारतीय मंत्रीस्तरीय प्रतिनिधिमंडल से परिचय करवाया। मोदी को गार्ड ऑफ ऑनर दिया गया और उनका स्वागत जर्मन सेना ने भारत के राष्ट्रगान की धुन बजा कर किया। इसके बाद दोनों नेता अंतरसरकारी समग्र सत्र में गए। यह सत्र मोदी की दो दिवसीय जर्मनी यात्रा का केंद्र बिंदू है। मोदी आईजीसी के तहत मर्केल के साथ औपचारिक वार्ताएं कर रहे थे। ये वार्ताएं हर दो साल में एक बार आयोजित की जाती हैं। मोदी के साथ उनके वरिष्ठ मंत्रियों का प्रतिनिधिमंडल भी था, जिनमें विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्री डॉ. हर्षवर्धन, वाणिज्य मंत्री निर्मला सीतारमण, ऊर्जा मंत्री पीयूष गोयल और विदेश राज्य मंत्री एमजे अकबर शामिल थे। पिछली बार आईजीसी का आयोजन अक्टूबर दिल्ली में किया गया था। तब द्विपक्षीय संबंधों को पर्याप्त बल मिला था। बर्लिन में आयोजित आईजीसी में दोनों नेताओं द्वारा कई समझौतों को अंतिम रूप देने और दोनों देशों के बीच रणनीतिक साझेदारी बढ़ाने के लिए करारनामों पर हस्ताक्षर किए जाने की संभावना है।