मेरठ : मुआवजा मांग रहे किसानो पर पुलिस ने किया लाठीचार्ज, रालोद नेता गिरफ्तार

आकाश पाण्डेय /मेरठ । गंगानगर में बिना मुवावजा दिए किसानों की जमीन पर बुल्डोजर चला फसल तहस नहस करने पर पुलिस और किसानो में जमकर नोंक झोंक हुई | पुलिस ने निहत्थे किसानों व महिलाओं पर बर्बरतापूर्वक लाठीचार्ज किया | विरोध करते राष्ट्रीय लोक दल नेता प्रदेश अध्यक्ष किसान प्रकोष्ठ चौ० रामेहर सिंह गुर्जर, प्रदेश अध्यक्ष सैनिक प्रकोष्ठ कर्नल ब्रह्मपाल तोमर, जिला अध्यक्ष राहुल देव प्रमुख, चौधरी रतन सिंह, मंडल अध्यक्ष सैनिक प्रकोष्ठ योगेश फौजी, एससी एसटी अध्यक्ष नरेन्द्र खजूरी, विकास सिंह भैंसा, सौरव गुर्जर आदि सैंकड़ों किसान मौजूद रहे | मेरठ विकास प्राधिकरण की टीम ने शनिवार को किसानों की खड़ी फसल रौंदकर गंगानगर योजना की जमीन पर कब्जा ले लिया। 12 थानों की पुलिस फोर्स और आरआरएफ जवानों के साथ पहुंचे एमडीए अधिकारियों ने बुलडोजर और ट्रैक्टर चलाकर फसल के साथ ट्यूबवेल और विद्युत लाइन भी ध्वस्त कर दी। किसानों ने जमकर विरोध किया। लेकिन पुलिस ने लाठियां बरसाकर किसानों को हिरासत में ले लिया।

जैसे ही बुलडोजर और ट्रैक्टर ने फसल उजाड़नी शुरू की तो महिलाओं ने उग्र विरोध शुरू कर दिया। महिला किसान दरांती लेकर पुलिस के सामने आ गई। फोर्स ने जबरन हटाना शुरू कर दिया तो किसान भी सामने आ गए। इस पर पुलिस ने लाठियां चलाईं तो भगदड़ मच गई। पुलिस ने किसानों को दौड़ाकर पीटा। किसान खेत में लेट गए पुलिस ने उन्हें जबरन हटाया। पुलिस ने किसान नेता राममेहर सहित 10 किसानों को हिरासत में ले लिया। इस बीच टीम ने पूरी भूमि को जेसीबी और ट्रैक्टर से जोत दिया। करीब तीन घंटे तक कब्जे की कार्रवाई चलती रही। दो ट्यूबवेल तथा विद्युत लाईन व खंभों को उखाड़ दिया गया। एमडीए अधिकारियों के सामने ही भूमि की तारबंदी शुरू कर दी गई।

गंगानगर एक्सटेंशन में एमडीए की अधिग्रहीत 202 एकड़ जमीन है, जिसमें से एमडीए काफी जमीन का आवंटन कर चुका है। एक इंस्टीट्यूट को दी गई 25 एकड़ जमीन पर कब्जा लेने को एमडीए लगातार प्रयास कर रहा था। लेकिन किसानों ने इस पर कब्जा नहीं दिया था। किसान अतिरिक्त प्रतिकर की मांग पर अड़े थे। यहां किसानों ने गेहूं की फसल बो रखी थी। नौ दिसंबर को भी एमडीए टीम ने इस जमीन पर कब्जे का प्रयास किया था। लेकिन यह प्रयास किसानों के विरोध से कामयाब नहीं हो सका।
शनिवार दोपहर करीब 12 बजे एमडीए तहसीलदार करनवीर सिंह, मनोज सिंह, एसपी देहात राजेश कुमार आदि फोर्स के साथ यहां पहुंचे। किसानों ने विरोध किया तो निकट के कम्यूनिटी हॉल में वार्ता हुई। यहां पहले से ही पहुुंचे रालोद किसान प्रकोष्ठ के प्रदेश अध्यक्ष राममेहर सिंह, रालोद जिलाध्यक्ष राहुल देव, राजेन्द्र रिठानी आदि ने विरोध किया। लेकिन बात नहीं बनी।