मायावती की बड़ी कार्यवाही, BSP के महाराष्ट्र प्रदेश अध्यक्ष को पार्टी से निकाला

नई दिल्ली । बहुजन समाज पार्टी (बसपा) ने महाराष्ट्र में पार्टी की हार के लिये प्रदेश इकाई के अध्यक्ष सुरेश साखरे की पार्टी विरोधी गतिविधयों को जिम्मेदार ठहराते हुये उन्हें पार्टी से निष्कासित कर दिया। मायावती की नाराजगी के बाद यह बड़ा कदम उठाया गया है । बसपा के महाराष्ट्र के प्रभारी अशोक सिद्धार्थ की ओर से गुरुवार को जारी विज्ञप्ति में कहा गया है कि साखरे ने पूरे राज्य में चुनाव प्रचार करने के बजाय पार्टी नेतृत्व की इच्छा के विपरीत खुद नागपुर उत्तर सीट से चुनाव लड़ा और बुरी तरह से पराजित भी हुये। इससे चुनाव में पार्टी को भारी क्षति उठानी पड़ी।

बयान में सिद्धार्थ ने साखरे पर चुनाव में अन्य विपक्षी दलों के साथ मिले होने के आरोपों का भी जिक्र करते हुये कहा कि उन्होंने बसपा के जनाधार वाली सीटों पर भी अन्य दलों से सांठगांठ कर कमजोर प्रत्याशियों को उम्मीदवार बनाया ।सिद्धार्थ ने कहा कि पार्टी की केन्द्रीय इकाई के निर्देश पर साखरे को प्रदेश अध्यक्ष पद की जिम्मेदारी निष्ठापूर्वक निभाने में नाकाम रहने और विरोधी दलों से मिलीभगत में संलिप्त पाये जाने के आरोप में बसपा से निष्कासित किया गया है।

बताते चलें कि बसपा ने महाराष्ट्र और हरियाणा विधानसभा चुनाव के अलावा उत्तर प्रदेश सहित अन्य राज्यों में उपचुनाव में अपने उम्मीदवार खड़े किये थे। पार्टी को इस चुनाव में किसी सीट पर कामयाबी नहीं मिली है। उत्तर प्रदेश में भी बसपा को जलालपुर सीट उपचुनाव में सपा के हाथों गंवानी पड़ी।