भाजपा-आरएसएस की सोच संविधान और तिरंगा विरोधी : मायावती

लखनऊ | हर बार भाजपा की आलोचना करने वाली बसपा सुप्रीमों मायावती ने इस बार कांग्रेस को भी आड़े हाथों लेते हुए कहा कि संविधान के उद्देश्यों को फेल करने में भाजपा-कांग्रेस चोर-चोर मौसेरे भाई हैं | उन्होंने यह बात कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के ‘संविधान खतरे में है’ वाले वक्तव्य पर अपनी प्रतिक्रिया में व्यक्त की |

बताते चलें कि बसपा प्रमुख मायावती के निशाने पर हमेशा भाजपा वाले रहते हैं .लेकिन डॉ. भीमराव अंबेडकर का भारतीय संविधान खतरे में बताने वाली मायावती ने कहा कि यह ऐतिहासिक सत्य है कि संविधान को उसकी सही मंशा के अनुसार लागू कर देश का व्यापक कल्याण करने के मामले में कांग्रेस भी किसी भी प्रकार से भाजपा से कम नहीं है | हाल ही में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के ‘संविधान खतरे में है’ वाला बयान दिया था. जिसकी प्रतिक्रिया में मायावती ने यह बात कही |

विदित हो कि भाजपा और संघ विरोधी मायावती ने कहा कि यह सभी जानते हैं कि आरएसएस की सोच संविधान और भारतीय तिरंगा विरोधी रही है.उन्होंने कहा कि ये लोग मुंह में राम बगल में छुरी की तरह संविधान की शपथ लेकर सरकार में तो आ गए हैं, लेकिन इस संविधान की आड़ में अपनी घोर कट्टरवादी और जातिवादी सोच को लागू करने में कोई कसर नहीं छोड़ते हैं |