मायावती : 16 नगर निगमों में बैलेट पेपर से मतदान कराके देख ले बीजेपी

लखनऊ। बहुजन समाज पार्टी की अध्यक्ष मायावती ने निकाय चुनाव के परिणामों को लेकर बीजेपी पर निशाना साधते हुए कहा है कि बीजेपी की जीत में ईवीएम की अहम भूमिका है और अगर ऐसा नहीं है तो बीजेपी के नेता प्रदेश की 16 नगर निगम सीटों पर बैलेट पेपर के जरिए फिर से चुनाव करा लें। सीएम योगी के बयान पर प्रतिक्रिया देते हुए मायावती ने उन्हें मेरठ और अलीगढ़ समेत सभी सीटों पर बैलेट पेपर के जरिए चुनाव कराने की चुनौती दी।

मायावती ने अपने बयान में कहा कि वास्तव में 2014 के लोकसभा व 2017 के उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में बीजेपी ने ईवीएम के माध्यम से चुनावी धांधली करके जीत हासिल की और केंद्र व उप्र में बहुमत की सरकार बना ली। इन दोनों ही चुनाव में बीजेपी को वैसा जनसमर्थन कतई नहीं था, जैसा कि चुनाव परिणामों में देखने को मिला। उन्होंने कहा कि प्रदेश में इस बार मेयर का चुनाव भी ईवीएम से कराया गया, जहां धांधली करके 16 में से 14 सीट जीत ली गई। अलीगढ़ व मेरठ में बीएसपी जीती, क्योंकि लोगों के जनसमर्थन के कारण गड़बड़ी करने पर पकड़े जाने की आशंका थी, जिससे बीजेपी की और भी ज्यादा फजीहत हो सकती थी।

‘प्रशासनिक मशीनरी का हुआ दुरुपयोग’
मायावती ने सवाल किया कि नगर पालिका और नगर पंचायत के चुनाव में जहां ईवीएम के बजाय बैलेट पेपर से मतदान हुए आखिर बीजेपी वहां क्यों पिछड़ गई? इससे भी साफ है कि मेयर के चुनाव में भी बीजेपी की जीत ईवीएम की धांधली से हुई है। मायावती ने कहा कि राज्य सरकार ने प्रशासन का दुरुपयोग करके झांसी, सहारनपुर और आगरा में बीएसपी को चुनाव हराया है और राजधानी लखनऊ में भी निष्पक्ष रूप से चुनाव नहीं हुए हैं।