अमरोहा के हसनपुर में सामूहिक नमाज पढ़ाने पर मौलाना गिरफ्तार, लोगों में चर्चाएं

अमरोहा । कोरोना वायरस के संक्रमण को फैलने के खतरे के बीच मस्जिद में सामूहिक नमाज पढ़ने के मामले में इमाम समेत तीन लोगों को पकड़ लिया। मस्जिद में जुमे की नमाज नही होने का एलान के बाद भी मौलाना ने नमाज पढ़वा रहे थे । पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज कर ली है । उधर, शहर में अलग-अलग स्थानों पर बेवजह घूम रहे 10 लोगों को पकड़ा गया।

हसनपुर तहसील क्षेत्र के गांव मनोटा की मस्जिद में सामूहिक रूप से नमाज पढ़ने पर गुरुवार रात पुलिस ने अगरौला कला निवासी पेश इमाम शहजाद पुत्र आजाद, मनोटा निवासी शौकीन पुत्र रफीक व लईक पुत्र शौकीन को गिरफ्तार कर चालान किया। प्रभारी निरीक्षक आरपी शर्मा ने बताया कि वहां 15- 20 ग्रामीण एक साथ नमाज पढ़ रहे थे। सूचना पर पहुंची पुलिस ने मौके से पेश इमाम समेत तीन लोगों को पकड़ लिया। बाकी लोग भाग निकले।

बताते चलें कि हसनपुर की जामा मस्जिद प्रबंध कमेटी ने गुरुवार को मीटिंग की थी। इसमें तय हुआ था कि जामा मस्जिद में पेश इमाम के अलावा सिर्फ चार अन्य लोग ही नमाज अदा करेंगे। बाकी तीन लोगों का ब्योरा भी पुलिस-प्रशासन को सौंप दिया गया था।