मतगणना में हुई देरी को लेकर चुनाव आयोग सख्त, DM गोरखपुर से मांगी रिपोर्ट

लखनऊ| गोरखपुर के डीएम राजीव रौतेला से चुनाव आयोग ने रिपोर्ट मांगी है। मीडिया कर्मियों और लोगों को मतदान केंद्र से बाहर निकालने की आई मीडिया रिपोर्ट्स पर आयोग ने नाराजगी जताई है। इसके अलावा चुनाव नतीजों को देरी से बताने की वजह से उनसे रिपोर्ट मांगी गई है। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार सुबह खबर आई थी कि उपचुनाव के वोटों की आठवें राउंड की गिनती पूरी हो चुकी है लेकिन जानकारी केवल एक ही राउंड की दी गई। काफी देर तक प्रशासन काउंटिंग की सूचना मीडिया को देने से बचता रहा और ना ही उसे अंदर जाने दिया। पहले तो मतगणना केंद्र के अंदर मौजूद डीएम ने देरी के लिए सुस्त मतगणना का हवाला दिया। उनका कहना था कि दूसरे और तीसरे राउंड की जानकारी जल्द ही दी जाएगी। हालांकि, मीडिया में रिपोर्ट्स आने के बाद प्रशासन ने हर पल की जानकारी देने लगा। मामला तूल पकड़ने के बाद यूपी विधानसभा में भी मामला उठा और विधानसभा की कार्यवाही स्थगित करनी पड़ी। सपा के प्रदेश अध्यक्ष नरेश उत्तम पटेल ने राज्य के मुख्य चुनाव आयुक्त को पत्र लिखा है।

जिसमें उनका कहना है कि लोगों और मीडिया को गोरखपुर मतगणना केंद्र से बाहर कर दिया गया है। जिला प्रशासन भाजपा को जीताने के लिए काम कर रहा है। वहीं समाजवादी पार्टी (सपा) के उम्मीदवार प्रवीण कुमार निशाद ने इलैक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन (ईवीएम) पर सवाल खड़े किए। उनका कहना था कि ईवीएम बदले गए हैं। हालांकि इसके बाद भी उन्होंने अपनी जीत को सुनिश्चित बताया था। इस सीट पर भाजपा ने उपेंद्र शुक्ल को अपना उम्मीदवार बनाया है। अब तक आए नतीजों में सपा ने भाजपा को पीछे कर दिया है। जिसकी वजह से पार्टी कार्यकर्ताओं ने जश्न मनाना शुरू कर दिया है।