एम. वेंकैया नायडू और वसुन्धरा राजे ने ‘आसमान’ से किया द्रव्यवती नदी परियोजना का निरीक्षण

केन्द्रीय शहरी विकास मंत्री एम. वेंकैया नायडू और मुख्यमंत्री वसुन्धरा राजे ने गुरूवार को जयपुर के द्रव्यवती रिवर परियोजना के कार्यों का हवाई सर्वेक्षण किया। नायडू ने परियोजना की तारीफ करते हुए ट्वीट किया कि इससे शहर की खूबसूरती में निखार आएगा। नायडू ने इस परियोजना के लिए मुख्यमंत्री की दूरदर्शिता की सराहना की। उन्होंने कहा कि द्रव्यवती नदी का नया स्वरूप न केवल जयपुर का पुराना वैभव लौटाएगा बल्कि शहरवासियों को खुले, हरे-भरे वातावरण में शुद्ध हवा भी मिल सकेगी।

 

नायडू और  राजे ने कोटा में आयोजित ग्राम-2017 का उद्घाटन करने के लिये रवाना होते समय द्रव्यवती नदी के क्षेत्र का हवाई अवलोकन किया। उन्होंने रिवर प्रोजेक्ट के विकास कार्यों की प्रगति का निरीक्षण करने के लिये हेलीकॉप्टर से नदी के बहाव क्षेत्र के साथ-साथ उड़ान भरी। गौरतलब है कि जयपुर शहर की लाइफलाइन रही द्रव्यवती नदी को अतिक्रमण, प्रदूषण और अपशिष्ट से मुक्त कराकर इसे पर्यटन गतिविधियों के बड़े केन्द्र के रूप में विकसित करने के लिए 47.5 किमी लम्बी इस नदी का रिवर रिजुविनेशन प्रोजेक्ट के रूप में सौन्दर्यकरण किया जा रहा है। विश्वस्तरीय विशेषज्ञों के सहयोग से टाटा प्रोजेक्ट्स द्वारा देश में एक मॉडल के रूप में विकसित किए जा रहे इस प्रोजेक्ट पर 1,667 करोड़ रुपये खर्च होंगे। इस परियोजना के तहत गंदे पानी को साफ करने के लिए 170 एमएलडी के सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट, वॉक-वे, जॉगिंग पार्क, ईको पार्क, सिटिंग एरिया, चैक डेम आदि बनाए जाएंगे।