लखनऊ : योगी जी, थानों के सामने ही अतिक्रमण तो कैसे सुधरे ट्रैफिक ?

आफाक मंसूरी
लखनऊ | यूपी की राजधानी लखनऊ अब अतिक्रमणकारियो का अड्डा बनती जा रही है | महानगर के हालात ऐसे हैं कि सड़क पर चलना भी दूभर हो गया है | चारों तरफ महानगर में सडकों पर जाम ही जाम है | अवैध रूप से अतिक्रमण होने के कारण आम आदमी परेशान है | स्टेशन हो, बस अड्डा हो या शहर का कोई भी मुख्य मार्ग बाइक या गाडी से तो दूर पैदल भी चलना मुश्किल हो जाता है | शहर की पुलिस और ट्रैफिक पुलिस के हालात यह हैं कि थानों के सामने भी अतिक्रमण और अवैध पार्किंग ने कब्ज़ा जमाया हुआ है |
महानगर की कोतवाली हजरत गंज के सामने ही अवैध पार्किंग बनी हुई है जिससे आवागमन में राहगीरों को परेशानी होती है | फायर स्टेशन के सामने भी ऐसे ही हालात हैं | सीएम योगी के तमाम निर्देशों के बावजूद लखनऊ पुलिस सुधरने का नाम नहीं ले रही है | ट्रैफिक पुलिस का लम्बा चौड़ा ताम-झाम भी अवैध पार्किंग और अतिक्रमण को हटा पाने में विफल साबित हो रहा है | अमीनाबाद सहित महानगर के हालात यह हैं कि मरीज को ले जाति एम्बुलेंस भी मुश्किल से ही सही समय पर अस्पताल पहुँच पाती है | सडको पर फूटपाथ पर व्यापारियो ने कब्ज़ा किया हुआ है और मुख्य मार्गों, सार्वजानिक स्थलों के आस पास अवैध पार्किंग ने | राजधानी में बाहर से आने वाले लोग जाम के झमेले में फंसकर परेशान होते हैं |
अब देखना यह है कि सीएम योगी के राज में  लखनऊ पुलिस और ट्रैफिक पुलिस इस समस्या को कब तक सुधार पाती है ?