BHU में छात्राओं पर लाठीचार्ज के विरोध में उतरा रालोद, डॉ मसूद बोले-RSS की विचारधारा थोपने का हो रहा प्रयास

लखनऊ । राष्ट्रीय लोकदल के प्रदेश अध्यक्ष डाॅ0 मसूद अहमद ने कहा है कि देश की अग्रणी एवं स्व0 मदन मोहन मालवीय जी के अथक प्रयासों से स्थापित शिक्षा संस्था बनारस हिन्दू यूनिवर्सिटी में रात्रि के समय छात्र छात्राओं पर की गयी लाठी चार्ज की शर्मनाक घटना ने देश  के सामने देश के प्रधानमंत्री की बेटी बचाओं बेटी पढ़ाओं योजना एवं प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ के द्वारा स्थापित एंटी रोमियों स्क्वायड की धज्जियां उड़ा रही है और उससे भी शर्मनाक यह है कि घटना के समय प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री बनारस में ही निवास कर रहे थे |  रालोद प्रदेश अध्यक्ष  ने कहा कि बनारस हिन्दू यूनिवर्सिटी की छात्राएं छेड़खानी के विरोध में शनिवार की रात वी0सी0 लाॅज घेरने जा रही थी। लाॅज पर पहुंचने से पहले ही छात्राओं पर किये गये लाठीचार्ज के फलस्वरूप हिंसा भड़क उठी और अन्य हाॅस्टलों के छात्र भी प्रदर्शन में कूद पड़े। सारी रात छात्र छात्राओं और पुलिस के बीच गौरिल्ला युद्व चलता रहा जिसमें हवाई फायरिंग और पेट्रोल बम के धमाके भी सुनाई पड़े। जो छात्र छात्राएं शिक्षकों की डाट फटकार खाकर शान्त हो जाते हों उन्हें हवाई फायरिंग और पेट्रोल बम के धमाकों से शान्त करना प्रशासन  पर काला धब्बा है। शान्तिपूर्ण वार्ता के माध्यम से यूनिवर्सिटी  के वी0सी0 द्वारा छेड़खानी जैसी घटना का पटाक्षेप हो सकता था परन्तु छात्राओं की अनदेखी करके यूनिवर्सिटी प्रशासन  ने शर्मनाक घटना को अंजाम देकर यूनिवर्सिटी के माथे पर बदनुमा दाग लगाने का काम किया है। रालोद ने राज्यपाल से अनुरोध किया कि बनारस हिन्दू यूनिवर्सिटी  के वी0सी0 को बर्खास्त करें।
डाॅ0 अहमद ने कहा कि रविवार को दोपहर बाद सैकड़ों छात्राओं ने शान्ति मार्च निकाला। वी0सी0 लाॅज तक अपनी वेदना प्रकट करने जा रही छात्राओं पर बनारस हिन्दू यूनिवर्सिटी  के सुरक्षाकर्मियों ने पुनः लाठी चार्ज किया जिसमें 8 छात्राएं घायल हुयी केवल लाठीचार्ज ही नहीं बल्कि सुरक्षाकर्मियों द्वारा छात्राओं से बदसलूकी भी की गयी। इसी अवसर पर कमिश्नर,  जिलाधिकारी एवं वी0सी0 ने बैठक किया और हाॅस्टल खाली करने का फरमान जारी कर दिया जिसकी राष्ट्रीय लोकदल भर्त्सना  करता है।
रालोद प्रदेश  अध्यक्ष डाॅ0 मसूद अहमद ने आगे कहा कि यहां पर यह कहना अप्रासंगिक नहीं होगा कि प्रदेश  के समस्त यूनिवर्सिटी  में छात्र-छात्राओं के साथ प्रशासनिक  समन्वय का सर्वथा अभाव है यही कारण है  कि समय  समय पर सभी जगह घटनाएं घटित होती हैं। छात्र छात्राओं के उद्वेलित होेने का एक कारण यह भी है कि शिक्षण  संस्थाओं में राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ की विचारधारा थोपने का प्रयास किया जा रहा है जो निंदनीय है। शिक्षण  संस्था के प्रशासनिक  अधिकारियों का सर्वप्रथम दायित्व है कि परिसर में पूर्णतः अनुशासन  की स्थापना की जाय क्योंकि बिना अनुषासन के अच्छी शिक्षण  व्यवस्था सम्भव नहीं है।
राष्ट्रीय लोकदल दिनांक 26 सितम्बर को लखनऊ में गांधी प्रतिमा के समक्ष बनारस हिन्दू यूनिवर्सिटी  की शर्मनाक घटना के विरोध में धरना देगा जिसमें सम्बन्धित प्रशासनिक  अधिकारियों एवं पुलिस अधिकारियों को बर्खास्त करने की मांग की जायेगी। इस अवसर पर  वरिष्ठ नेता वसीम हैदर, प्रो0 यज्ञदत्त शुक्ला, प्रदेश  प्रवक्ता सुरेन्द्रनाथ त्रिवेदी, रमावती तिवारी, प्रीति श्रीवास्तव मौजूद रहे।