अखिलेश ने दी गठबंधन को हवा, कांग्रेस पर बोले -‘हार हो या जीत हम दोस्त नहीं बदलते’

लखनऊ | अखिलेश यादव ने कहा कि सपा अभी संगठन को दुरुस्त करने में लगी हुई है पहले पार्टी को मजबूत करना हमारी जिम्मेदारी है गठबंधन की बात चुनाव के समय होगी उन्होंने कहा कि गठबंधन के इंतजार में हम पार्टी को मजबूत करने की प्रक्रिया को नहीं रोक सकते हैं। 2019 लोकसभा चुनाव के लिए गठबंधन पर समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा कि हम समाजवादी लोग दोस्त नहीं बदलते हैं हम लोगों ने राजनीति में बहुत धोखे खाए हैं इससे बहुत कुछ सीखा है अखिलेश ने कहा कि चुनाव के समय गठबंधन की बात होगी फिलहाल अभी हमारी पार्टी का मकसद सियासी जमीन पर मजबूत करने का है।

अखिलेश ने कहा कि समाजवादी लोग राजनीति में धोखा बहुत खाए हैं जितना धोखा खाया उतने हम मजबूत हुए हैं उन्होंने कहा कि समाजवादी खासकर मैं अपने दोस्त नहीं बदलता हूं गठबंधन की बात होगी तो जरूर बता देंगे अभी फिलहाल हम पार्टी को मजबूत करने में लगे हैं। बता दें कि पिछले दिनों अखिलेश ने एक साक्षात्कार में कहा था कि 2019 के लिए अभी तक मैं किसी पार्टी के साथ गठबंधन की नहीं सोच रहा हूं गठबंधन और सीट शेयरिंग पर बात कर मैं अपना समय बर्बाद नहीं करना चाहता अखिलेश ने ये भी कहा था कि मैं किसी भ्रम में नहीं रहना चाहता हूं।

अखिलेश के इसी बयान के बाद कहा जाने लगा था कि अखिलेश और राहुल गांधी के बीच विधानसभा चुनाव के दौरान हुई दोस्ती में दरार पड़ गई है इसी पर अखिलेश ने आज भी दोहराया कि वो पार्टी और संगठन को मजबूत करने में लगे हैं लेकिन दोस्त वो नहीं बदलते हैं। गौरतलब है कि 2014 के लोकसभा चुनाव में करारी हार के बाद 2017 के यूपी विधानसभा चुनाव में कांग्रेस और समाजवादी पार्टी साथ मिलकर उतरी थी लेकिन प्रदर्शन अच्छा नहीं रहा था बीजेपी 325 सीटें जीतकर प्रचंड बहुमत के साथ यूपी की सत्ता पर काबिज हुई कांग्रेस को 7 और समाजवादी पार्टी को केवल 47 सीटें मिली थीं।