भाजपा को रोकने की ताकत सिर्फ सपा के पास : अखिलेश यादव

लखनऊ | विधानसभा चुनाव में करारी हार के बाद अब समाजवादी पार्टी लोकसभा चुनाव की तैयारियो में जुट गई है | सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष व पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने प्रदेश मुख्यालय में विधायकों व विधानसभा चुनाव लड़े प्रत्याशियों की बैठक में लोकसभा चुनाव की तैयारियों में जुटने और जनता से जुड़े मुद्दों पर संघर्ष करने के निर्देश दिए। साथ ही अखिलेश ने सपा नेताओं से मुद्दों की लड़ाई लड़ने के लिए आगे रह्ने३ और जनता के हक़ की आवाज़ बुलंद करने का आव्हान किया |

अखिलेश यादव ने कहा कि उत्तर प्रदेश में भाजपा को रोकने की ताकत केवल समाजवादी पार्टी के पास है। भारतीय जनता पार्टी समाज की एकता को तोड़ने का काम कर रही है। यूपी सरकार दूसरे के काम को अपना काम बनाने का झूठा प्रचार कर रही है। समाजवादी सरकार में किये गये कार्यो का उद्घाटन करने में भी भाजपा के लोग संकोच नहीं कर रहे है। भाजपा सरकार अपनी विफलता पर पर्दा डाल रही है। यादव ने कहा कि किसानों की आत्महत्या, ठण्ड से हो रही मौतों पर पीडित परिवारों की भाजपा सरकार कोई मदद नहीं कर रही है। भाजपा लोकतंत्र के सामने खतरा है। जो गरीब और किसान वर्ग है उसे उनके हक से वंचित करने की मंशा भाजपा की है। जनता का ध्यान मुद्दो से हटाने की ताकत भाजपा के पास है। लेकिन लोकतंत्र में झूठ और धोखे की राजनीति लम्बे समय तक सफल नहीं हो सकती है।

अखिलेश यादव ने कहा कि भाजपा षड़यंत्र और साजिष करने वाली पार्टी है। उन्होंने कहा कि समाजवादी पार्टी लोकसभा चुनाव में विकल्प है। समाजवादी पार्टी लोकतंत्र के हित और जन समस्याओं के समाधान की दिशा में मजबूती से काम करेगी। जनता का भरोसा समाजवादी पार्टी पर है। किसी भी राजनीतिक पार्टी के पास ऐसे निष्ठावान कार्यकर्Ÿाा नहीं है जैसे समाजवादी पार्टी के पास हैं।

सूबे के कई विधायकों व अन्य नेताओं ने भी अपनी राय रखी। बैठक में विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष रामगोविंद चौधरी, विधान परिषद में नेता विरोधी दल अहमद हसन, प्रदेश अध्यक्ष नरेश उत्तम पटेल, विधानसभा के पूर्व अध्यक्ष माता प्रसाद पांडेय, राजेंद्र चौधरी समेत अधिकतर विधायक व पूर्व प्रत्याशी उपस्थित रहे। माना जा रहा है कि अखिलेश यादव खुद लोकसभा की तैयारियों में जुट गए हैं और किसी भी स्तर पर वह कोई कसर नहीं छोड़ना चाहते हैं |