65 लाख रुपये वसूली मामले में बाराबंकी एसपी सतीश कुमार निलंबित, चुनाव आयोग ने दी अनुमति

लखनऊ । बाराबंकी साइबर क्राइम सेल प्रभारी अनूप कुमार यादव द्वारा की गई वसूली में एसपी ऑफिस की भूमिका संदिग्ध पाई गई है। जिस पर उनके खिलाफ एक्शन लिया गया।बाराबंकी साइबर क्राइम सेल प्रभारी अनूप कुमार यादव द्वारा की गई वसूली में एसपी ऑफिस की भूमिका संदिग्ध पाई गई है। जिस पर उनके खिलाफ एक्शन लिया गया।नए पुलिस अधीक्ष की तैनाती के लिए चुनाव आयोग को तीन नामों का पैनल भेजा गया है। बताया जा रहा है कि शाम तक नए एसपी की तैनाती हो जाएगी।

विश्वास ट्रेडिंग कंपनी के शंकर गायन ने लखनऊ में हजरतगंज कोतवाली में एफआईआर दर्ज कर साइबर क्राइम सेल के प्रभारी अनूप कुमार यादव व उसके साथियों पर 65 लाख रुपये की वसूली का आरोप लगाया था।आरोप था कि अनूप ने कंपनी के प्रसनजीत सरदार, शंकर गायन और धीरज श्रीवास्तव को कंपनी के खिलाफ दर्ज धोखाधड़ी के मामले की जांच के बहाने दस्तावेज के साथ 10 जनवरी को पुलिस अधीक्षक कार्यालय में बुलाया, वहां से अपने आवास ले जाकर 65 लाख की मांग के साथ कंपनी बंद कराने की धमकी दी।उन्होंने डर के चलते 65 लाख दे दिए। अनूप ने 11 जनवरी को फिर बुलाया और जेल भेज दिया। राज्य सरकार विश्वास ट्रेडिंग के खिलाफ दर्ज धोखाधड़ी के मामले की जांच ईओडब्ल्यू को सौंप चुकी है।