लंदन में मोदी सरकार-आरएसएस के खिलाफ भारतीयों ने निकाली रैली

नई दिल्ली। लंदन की सड़कों पर शनिवार को एक मोदी विरोधी नारे के साथ रैली निकाली गई। यह रैली लंदन में रहने वाले दक्षिण एशियाई समुदाय के लोगों ने आयोजित की थी। इस रैली में भारत में दलितों पर हो रहे अत्याचारों के ख़िलाफ़ आवाज़ उठाई गई। विरोध प्रदर्शन में लंदन के अलावा बर्मिंघम और वोलवरहैम्पटन से भी आये लोगों मे हिस्सा लिया। सभी प्रदर्शनकारी पहले पार्लियामेंट स्कवॉयर पर एकत्रित हुए और फिर वहां से उन्होंने भारतीय उच्चायोग तक लगभग 20 मिनट तक रैली निकाली।

इस रैली में ब्रिटेन में रहने वाले जातिगत समूहों के लोगों ने प्रदर्शन में हिस्सा लिया। प्रदर्शन में लोगों को शामिल करने के लिए बसों का इंतज़ाम भी किया गया था। प्रदर्शनकारी सड़कों पर मोदी विरोधी नारे लगा रहे थे। प्रदर्शन के दौरान ‘मोदी सरकार हाय हाय’ और ‘आरएसएस डाउन-डाउन’ जैसे नारे गूंज रहे थे। दक्षिण एशियाई एकता समूह की एक सदस्य कल्पना विल्सन ने कहा, ”मेरे ख़्याल से मोदी सरकार को यह संदेश देना बहुत ज़रूरी है कि दुनिया भर के लोग देख रहे हैं कि भारत में क्या हो रहा है, दलितों पर हमले हो रहे हैं, मुसलमानों और अल्पसंख्यकों को भीड़ के हाथों मारा जा रहा है। उन्होंने आगे कहा हम लोगों को यह बताना चाहते हैं कि भारत में लोकतंत्र ख़तरे में है, लंदन में ही रहने वालीं वंदना संजय डोमेस्टिक वायलेंस ऑफिसर हैं, उन्होंने कहा, लंदन में दुनिया के सभी हिस्सों के लोग रहते हैं। हम यहां भारतीय उच्चायोग में अपनी अर्ज़ी दायर करने आए हैं, हमें उम्मीद है कि इससे भारत सरकार पर कुछ असर पड़ेगा।

पार्लियामेंट स्क्वॉयर से शुरू हुआ विरोध प्रदर्शन लंदन स्थित भारतीय उच्चायोग तक चला। प्रदर्शनकारियों ने भारतीय उच्चायुक्त से बाहर आकर उनसे बात करने की मांग की। एक अन्य प्रदर्शनकारी अमृत विल्सन ने कहा, ”हम भारतीय उच्चायुक्त को ज्ञापन सौंपना चाहते थे लेकिन उन्होंने लेने से इंकार कर दिया, उन्होंने हमसे कहा कि भारत सरकार से इस प्रकार का ज्ञापन स्वीकार न करने के आदेश मिले हैं।