कार्गो में ही सो गया विमान में सामान चढ़ाने आया शख्स, पहुंच गया UAE, जानें क्या है मामला

मुंबई। अधिकारियों ने बताया कि कार्गो का दरवाजा बंद था और मुंबई हवाईअड्डे से विमान के उड़ान भरने पर उसकी नींद खुली। यूएई की राजधानी में विमान के उतरने पर अबू धाबी के अधिकारियों ने लोडर की मेडिकल जांच की और उसकी शारीरिक हालत स्थिर व सामान्य पाई गई। कभी-कभी किसी को कोशिश करने पर भी विमान यात्रा का अवसर नहीं मिलता है तो किसी को अंजाने में ही इसका सुख मिल जाता है। ऐसा ही कुछ मुंबई में सामान चढ़ाने और उतारने वाले एक लोडर के साथ हुआ। वह कार्गों में ही सो गया और नींद खुली तो रास्ते में था। विमान जब संयुक्त अरब अमीरात में उतरा, तब सब कुछ पता चला।

इंडिगो एयरलाइन की मुंबई-अबू धाबी उड़ान के ‘कार्गो कंपार्टमेंट’ में एक ‘लोडर’ (श्रमिक) को नींद आ गई, लेकिन संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) की राजधानी पहुंचने पर उसे सुरक्षित पाया गया। नागर विमानन महानिदेशालय (डीजीसीए) के अधिकारयों ने यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि रविवार रात विमान में सामान लादने के बाद, निजी एयरलाइन का एक लोडर कार्गो कंपार्टमेंट में सामान के पीछे सो गया।

उल्लेखनीय है कि लोडर सामान लादने-उतारने वाला श्रमिक होता है। अधिकारियों ने बताया कि कार्गो का दरवाजा बंद था और मुंबई हवाईअड्डे से विमान के उड़ान भरने पर उसकी नींद खुली। यूएई की राजधानी में विमान के उतरने पर अबू धाबी के अधिकारियों ने लोडर की मेडिकल जांच की और उसकी शारीरिक हालत स्थिर व सामान्य पाई गई।

डीजीसीए अधिकारियों ने बताया कि अबू धाबी में अधिकारियों से जरूरी मंजूरी मिलने के बाद उसे उसी विमान से एक यात्री के तौर पर मुंबई वापस भेज दिया गया। उन्होंने बताया कि घटना में संलिप्त रहे एयरलाइन के कर्मियों को जांच लंबित रहने तक ड्यूटी से हटा दिया गया है। घटना के बारे में पूछे जाने पर इंडिगो के प्रवक्ता ने कहा,‘‘हम घटना से अवगत हैं और इस बारे में संबद्ध अधिकारियों को सूचित कर दिया गया। विषय की जांच की जा रही है।’’

इस बीच महाराष्ट्र के स्वास्थ्य विभाग ने मंगलवार को बताया कि राज्य में ओमीक्रोन स्वरूप के आठ नए मामले दर्ज किए गए और इनमें से किसी भी मरीज ने हाल में विदेश यात्रा नहीं की है। स्वास्थ्य विभाग ने एक बुलेटिन में बताया कि नए मामलों के साथ ही सार्स-सीओवी-2 के नए स्वरूप से संक्रमित होने वालों की संख्या राज्य में बढ़कर 28 हो गई है। इनमें से सात मामले मुंबई में सामने आए हैं और संक्रमितों में तीन महिलाएं शामिल हैं।