लड़की के सीने से निकला लड़के का दिल! एक अनसुलझा रहस्य

सीबीआई ने मुंबई की एक लड़की की मौत की गुत्थी सुलझाने में लम्बा समय लगा दिया लेकिन मौत का रहस्य आज भी रहस्य ही बना हुआ है। जब सीबीआई जैसी एजेंसी इस मामले को नहीं सुलझा पायी तो खुद ही समझ जाना चाहिए की मामला जरूर जटिल रहा होगा। हम आपको पूरे मामले से वाकिफ कराते हैं। दरसल पांच साल पहले रहस्मय हालत में मुंबई में सनम नाम की लड़की की मौत हो थी। मौत के बाद हुए पोस्टमार्टम में उसके अंदर जो दिल निकला था, उसे लड़के का बताया गया। यही नहीं डीएनए जांच के लिए भेजा गया दिल भी सनम का नहीं निकला है। उसकी उसे फोरेंसिक जांच के लिए भेजा गया। जिसके बाद ये मामला सीबीआई पहुंचा लेकिन कोई हल नहीं​ निकला। 3 अक्तूबर 2012 की रात सनम अपना जन्मदिन मनाने गई थी। पार्टी के दौरान उसकी तबीयत खराब हो गई। उसे इलाज के लिए अस्पताल ले जाया गया। वहां इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई। सनम के परिजनों ने उसके साथ रेप और हत्या का शक जताया था। लेकिन पोस्टमार्टम की रिपोर्ट में सनम हसन का दिल पुरुष का निकला था। रिपोर्ट के अनुसार मरने से पहले सनम का दिल 70 फीसदी ब्लॉक था। उसकी मौत ज्यादा नशा करने की वजह से हुई थी। सनम के परिजन इस रिपोर्ट से संतुष्ट नहीं थे, क्योंकि वो एक फुटबाल खिलाड़ी थी। सनम पार्टी करने से एक दिन पहले भी मैच खेलकर आई थी। उसके परिजनों ने उसके साथ रेप और हत्या का शक जाते हुए केस दर्ज करवाया था। जांच के दौरान पुलिस को इस मामले में कुछ हाथ नहीं लग पाया था। मुंबई पुलिस के नाकाम हो जाने के बाद इस मामले को सीबीआई को सौपा गया था। सीबीआई ने सनम की मौत के लगभग 4 साल बाद उसकी कब्र खुदवाई थी। उसकी कब्र से सनम के दांत, नेल क्लिपिंग, बाल और जांघ की हड्डी बरामद हुई थी। इनको डीएनए टेस्ट के लिए भेजा गया था। उस समय जो दिल सनम का भेजा गया था, उसका डीएनए भी मैच नहीं कर पाया। सनम का दिल अभी तक नहीं मिला है। सीबीआई भी इस मामले में नाकाम नजर आ रही है। इस मामले के पेंच अब और ज्यादा फंसते जा रहे हैं। सनम के परिजन अपनी बेटी की मौत को आज भी हत्या बता रहे हैं। आज भी सनम के मां-बाप न्याय की राह देख रहे हैं।