कश्मीर में हुर्रियत नेता गिलानी गिरफ्तार, हो सकता है बवाल

श्रीनगर। टेरर फंडिंग के आरोपों में हुर्रियत नेताओं के घर जारी NIA की छापेमारी पर घाटी में बवाल हो गया है। बता दें कि हुर्रियत नेताओं ने NIA छापेमारी के विरोध में सोमवार को एक संयुक्त बैठक बुलायी थी। जिसके बाद बवाल को देखते हुए जम्मू कश्मीर पुलिस ने जेकेएलएफ चीफ और हुर्रियत नेता यासीन मलिक को गिरफ्तार कर लिया है। बता दें कि यह बैठक हुर्रियत के वरिष्ठ नेता सैयद अली शाह गिलानी के घर पर होनी थी। लेकिन उससे पहले ही पुलिस ने गिलानी के घर को सील कर दिया है और किसी को भी उनके घर जाने की इजाजत नहीं दी जा रही है। वहीं हुर्रियत नेता मीरवाइज उमर फारुख को उनके घर में ही नजरबंद कर दिया गया है।

NIA की हुर्रियत नेताओं के घर पर हो रही छापेमारी के विरोध में हुर्रियत नेताओं ने सड़क पर उतरने की धमकी दी थी। गिलानी ने कहा था कि यह छापेमारी सिर्फ हुर्रियत नेताओं को परेशान करने के लिए की जा रही है। लेकिन अगर ये जल्द ही बंद नहीं की गई तो सरकार को इसके गंभीर परिणाम भुगतने पड़ेंगे। कश्मीर के लोग इसके खिलाफ सड़कों पर उतरेंगे। जेकेएलएफ चीफ यासीन मलिक पिछले हफ्ते ही जेल से रिहा हुए थे। दरअसल आतंकी सबजार अहमद भट्ट और फैजान अहमद के परिजनों से मिलने के आरोप में उन्हें गिरफ्तार किया गया था। इसके बाद आज फिर से उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया।