कासगंज : चन्दन के अंतिम संस्कार के बाद भगवाधारियों का उपद्रव, तोड़फोड़-आगजनी

कासगंज | गणतंत्र दिवस पर तिरंगा यात्रा के नाम पर भगवा झंडा जबरन लहरवाने और जयश्री राम के नारों से शुरू हुआ विवाद अब पूरी तरह से कासगंज में सांप्रदायिक दंगे का रूप ले चुका है | हिंदूवादी कार्यकर्ता चन्दन की मौत के बाद दंगे ने विकराल रूप ले लिया है | आगरा और अलीगढ रेंज का पुलिस फ़ोर्स अफसरों सहित हालात काबू करने में जुटा हुआ है | शुक्रवार को हुए सांप्रदायिक बवाल की आग ठंडी पड़ती नहीं दिखाई दे रही है। शनिवार को मृत युवक चन्दन के अंतिम संस्कार के बाद शहर में फिर से हिंसा भड़क गई। चिता लगने के बाद भी लोगों ने अंतिम संस्कार से इनकार कर दिया। इसके बाद भाजपा सांसद राजवीर सिंह राजू भैया ने वैश्य सभा के जिलाध्यक्ष की सीएम योगी आदित्यनाथ से बात कराई। तब जाकर युवक का अंतिम संस्कार हुआ।


आक्रोश में भगवाधारियों की भीड़ अंतिम संस्कार से लौटते ही उग्र हो गई। जुलूस के रूप में लौटते लोगों ने आसपास के खोखों और कई दुकानों में आग लगा दी। रास्ते में सब्जी के ठेलों को भी पलट दिया। भीड़ दुकानों में तोड़फोड़ करते हुए आगे बढ़ती रही। आक्रोश के आगे पुलिस प्रशासन बेबस दिखाई दिया | मौके पर प्रशासन और पुलिस ने हालात पर काबू पाने की कोशिश की लेकिन नाकाम रहे और प्रशासन ने लोगों को घरों से बाहर न निकलने की हिदायत दी। धारा 144 को लेकर एनाउंसमेंट किया जा रहा है। आगरा जोन के एडीजी अजय आनंद, आईजी अलीगढ़ डा. संजीव गुप्ता, कमिश्नर अलीगढ़ सुभाष चंद्र शर्मा मौके पर कैंप किए हुए हैं। पीएसी और आएएफ भीड़ को नियं‌त्रित करने का प्रयास कर रही हैं। पुलिस ने मौके से कुछ लोगों को पुलिस ने हिरासत में लिया है। नगर में आज सुबह से ही बाजार बंद हैं। स्‍थानीय लोग अनहोनी की आशंकाओं से परेशान हैं। अफवाहें भी चरम पर फैल रहीं हैं। मुस्लिम इलाको में भय और दहशत का माहौल व्यापत है | मामले में सत्ता की हनक के चलते हिंदूवादी प्रशासन पर भी भारी पड़ रहे हैं | हालातों को काबू करने के लिए मशक्कत करने में प्रशासन जी जान लगाये हुए है |

सुनियोजित नहीं थी हिंसा-
एडिशनल DG (लॉ एंड ऑर्डर) आनंद कुमार के अनुसार यह पूर्व नियोजित हिंसा नहीं थी जो हुआ अचानक हुआ वहीं मुख्य सचिव (गृह) अरविंद कुमार ने बताया कि 12 से ज्यादा वाहनों व संपत्ति को नुकसान पहुंचाया गया है पुलिस की भारी मौजूदगी है और हालात तनावपूर्ण हैं लोगों को एहतियात के तौर पर घरों में रहने के लिए कहा गया है। झड़प के दौरान गोलीबारी की भी खबरें हैं पुलिस ने कहा कि तीन स्कॉर्पियो एसयूवी दो मैजिक परिवहन वाहन व एक ट्रक को भी भीड़ द्वारा मथुरा-बरेली राजमार्ग पर निशाना बनाया गया अनियंत्रित भीड़ ने पेट्रोल पंप के निकट एक गुमटी में आग लगा दी।