करणी सेना नेता सूरजपाल अम्मू गिरफ्तार, पद्मावत का कर रहे थे विरोध

गुडगाँव | फिल्मकार संजय लीला भंसाली ‘पद्मावत’ का विरोध कर रही करणी सेना को बड़ा झटका लगा है। गुरुग्राम कोर्ट ने करणी सेना के बड़े नेताओं में शुमार सूरजपाल सिंह अम्मू को 29 जनवरी तक न्यायिक हिरासत में भेज दिया है। इससे पहले बृहस्पतिवार शाम को बड़ी कार्रवाई करते हुए गुरुग्राम पुलिस ने दिनभर नजरबंद फिर हिरासत में लेने के बाद आखिरकार शाम छह बजे अम्मू को गिरफ्तार कर लिया था। इस दौरान उनके निवास स्थान के चारों तरफ भारी संख्या मेें पुलिस बल तैनात किया गया था, ताकि किसी भी स्थिति से निबटा जा सके।

बताते चलें कि पद्मावत फिल्म के खिलाफ सूरजपाल अम्मू कई महीनों से अपना विरोध दर्ज करा रहे हैं। वह बृहस्पतिवार किसी कार्यक्रम में जाना चाहते थे, लेकिन उनके निवास पर पुलिस पहुंच गई। उनका आरोप है कि उन्हें लोगों से मिलने नहीं दिया गया। एक तरफ प्रशासन सहयोग मांग रहा है, वहीं दूसरी तरफ उन्हें घर से बाहर निकलने नहीं दिया।उ न्होंने कहा कि जहां तक गांव भोंडसी में हुए उप्रदव का सवाल है तो इसकी जितनी निंदा की जाए वह कम है। देश के भीतर जहां कहीं भी तोड़फोड़ या आगजनी की जा रही है, यह उचित नहीं है। इसका वह किसी भी स्तर पर समर्थन नहीं करते हैं। फिल्म के माध्यम से भारतीय नारी की अस्मिता के ऊपर चोट पहुंचाने का काम किया गया है। इस वजह से वह विरोध कर रहे हैं।

सुप्रीम कोर्ट ने विवाद में रही फिल्म पद्मावत को हरी झंडी दिया है। 25 जनवरी से इसका राजधानी में कई सिनेमाघरों में प्रदर्शन किया जाएगा। फिल्म को लेकर एक समाज के लोगों का कहना है कि फिल्म में इतिहास को तोड़ मरोड़कर और रानी पद्मावती के किरदार को गलत तरीके से पेश किया गया है। इसके कारण ही लंबे समय से फिल्म के प्रदर्शन का विरोध जारी है। कुछ संगठनों ने दिल्ली में भी फिल्म प्रदर्शित नहीं होने देने की धमकी दी है। इसके मद्देनजर पुलिस सतर्कता बरत रही है।