उदयपुर हत्याकांड : BJP का सक्रिय सदस्य है कन्हैयालाल का हत्यारा, फोटो हुए वायरल

नई दिल्ली | उदयपुर हत्याकांड के लिए कांग्रेस सरकार को दोषी ठहरा रही भाजपा अब बुरी तरह फंस गयी है | अब कांग्रेस ने भाजपा पर बड़ा आरोप लगाया है। कांग्रेस के अनुसार कन्हैयालाल के हत्यारे रियाज अटारी के संबंध भाजपा नेताओं से हैं। भाजपा नेता गुलाबचंद कटारिया के साथ आरोपी रियाज की फोटो सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है। जिसके बाद पवन खेड़ा ने रियाज को भाजपा का सक्रिय सदस्य बताया। खेड़ा ने कहा कि ‘मुंह में राष्ट्रवाद बगल में छुरी’ वाली कहावत इस मामले में चरितार्थ हो रही है। कल सोशल मीडिया पर कई तथ्य आने के बाद कांग्रेस पार्टी ने भी रिसर्च की है। जिनमें नए तथ्य सामने आए हैं कि रियाज अटारी राजस्थान में भाजपा के कद्दावर नेता पूर्व गृहमंत्री गुलाबचंद कटारिया के अनेक कार्यक्रमों में शामिल होता था।

उन्होंने कहा कि भाजपा के अल्पसंख्यक प्रकोष्ठ के नेता इरशाद चैनवाला और भाजपा के मोहम्मद ताहिर के पुराने फेसबुक पोस्ट को हमने स्टडी किया। स्टडी में पाया कि रियाज अत्तारी न केवल प्रदेश के पूर्व गृहमंत्री गुलाबचंद कटारिया के साथ कई कार्यक्रमों में दिखाई दे रहा है बल्कि भाजपा के नेता उसे भाजपा कार्यकर्ता भी बता रहे हैं। खेड़ा ने कहा कि फेसबुक पोस्ट से स्पष्ट है कि आतंकी रियाज भाजपा का सक्रिय सदस्य है। अब भाजपा शाम तक इस मामले में जवाब दें। यह सवाल है कि क्या केंद्र सरकार ने कुछ घंटों में एनआईए को यह मामला तथ्यों को छुपाने के लिए सौंपा है।

भाजपा नेता गुलाब चंद्र कटारिया ने कांग्रेस के आरोपों पर सफाई दी है। कटारिया ने कहा कि भाजपा के अल्पसंख्यक विंग के कार्यक्रम में शामिल होना कोई अपराध नहीं है। मेरे नियंत्रण में नहीं है कि इन आयोजनों में कौन मेरे साथ फोटो खिंचवाता है। अगर फिर भी किसी को लग रहा है कि मैंने अपराध किया है तो मेरे खिलाफ केस दर्ज करवा दे। फोटो क्लिक करवाना अपराध है तो मेरे खिलाफ कार्रवाई करवा दे। वहीं भाजपा के अल्पसंख्यक मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष मोहम्मद सादिक खान ने कहा कि आरोपी के भाजपा नेता के साथ तस्वीर होना ये सबूत नहीं है कि वो भाजपा का सक्रिय सदस्य है। उन्होंने कहा कि हो सकता है कि वो किसी कार्यक्रम में गया हो और उसने नेताओं के साथ तस्वीरें खिंचवा ली हो।

यह है पूरा मामला-
बता दें कि 28 जून को उदयपुर में दो लोगों ने कन्हैयालाल नाम के व्यक्ति की उसके दुकान में घुसकर बेरहमी से हत्या कर दी थी। आरोपियों ने हत्या से पहले और उसके बाद वीडियो भी बनाया था। वीडियो में उन्होंने प्रधानमंत्री तक को मारने की धमकी दी। हालांकि, वारदात के बाद ही पुलिस ने दोनों आरोपियों को दबोच लिया। मामले की जांच राष्ट्रीय जांच एजेंसी कर रही है। अब तक मामले में पांच आरोपी गिरफ्तार हो चुके हैं।