JNU में फिर लहराया लाल परचम, चारों सीटों पर लेफ्ट यूनिटी का कब्जा

दिल्ली| देश के प्रतिष्ठित जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) में एक बार फिर से लेफ्ट का परचम लहराया है. रविवार को आए नतीजों में चारों सीटों पर लेफ्ट यूनिटी के प्रत्याशियों को जीत मिली है. अध्यक्ष, उपाध्यक्ष, महासचिव और संयुक्त सचिव के पद लेफ्ट यूनिटी के खाते में गए हैं. वहीं सभी पदों पर ABVP दूसरे स्थान पर रही है.
कैंपस में शुक्रवार को छात्रसंघ चुनाव के लिए वोटिंग तो हो गई लेकिन नतीजे आने में काफी वक्त लगा. छात्र संगठनों में झड़प की वजह से कई बार मतगणना को रोका गया लेकिन 14 घंटे बाद रविवार को फिर से काउंटिंग शुरू गो पाई.
इस साल कैंपस में 70 फीसदी वोटिंग हुई थी जो बीते 6 साल में अबतक का सबसे ज्यादा मतदान है. लेफ्ट यूनिटी में आल इंडिया स्टूडेंट्स एसोसिएशन (आइसा), स्टूडेंट्स फेडरेशन आफ इंडिया (एसएफआई), डेमोक्रेटिक स्टूडेंट्स फेडरेशन (डीएसएफ) और ऑल इंडिया स्टूडेंट्स फेडरेशन (एआईएसएफ) शामिल हैं जिन्होंने एन बालाजी के अपना अध्यक्ष उम्मीदवार नियुक्त किया था.
रविवार को छात्रसंघ चुनाव के नतीजे आ गए इनमें…
अध्यक्ष——N Sai Balaji (Left Unity)- 2151-Lalit Pandey (ABVP )-972-1179 वोटों से लेफ्ट की जीत
उपाध्यक्ष–Sarika (Left Unity)- 2592Geeta Sri (ABVP)- 10131579 वोटों से लेफ्ट की जीत
महासचिव–Aejaj (Left Unity)- 2426Ganesh (ABVP)- 12351193 वोटों से लेफ्ट की जीत
संयुक्त सचिव-Amutha (Left Unity)- 2047Venkat Chaubey (ABVP)- 1290
757 वोटों से लेफ्ट की जीत–
छात्र संगठन अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (ABVP) और लेफ्ट समर्थक संगठनों के बीच यहां मुख्य मुकाबला था. शनिवार को दोनों की छात्र गुट चुनाव समिति से भिड़ गए जिसके चलते कई बार मतगणना को रोकना पड़ा. इसी को देखते हुए भारी संख्या में पुलिस की तैनाती की गई है, साथ ही पुलिस हिंसा में शामिल लोगों की तलाश भी कर रही है.
मारपीट और हिंसा का आरोप–
चुनाव समिति का आरोप था कि एक अध्यक्ष और संयुक्त सचिव पद के प्रत्याशी ने चुनाव समिति की महिला सदस्यों के साथ मारपीट की. वाम संगठनों ने आरोप लगाया कि देर रात ABVP के उम्मीदवारों और कार्यकर्ताओं ने कैंपस में उत्पात मचाया. देर रात सभी काउंसलर पदों में हार की सूचना से बौखलाए एबीवीपी समर्थकों ने मारपीट और तोडफोड़ की.
अभिनेत्री स्वरा भास्कर ने भी छात्र गुटों में झड़प की खबरों के लिए ABVP को जिम्मेदार ठहराया. उन्होंने ट्वीट कर कहा कि ABVP के छात्र लाठी-डंडे लेकर कैंपस में उत्पात मचा रहे हैं, साथ ही डीयू से भी छात्रों को बुलाया गया है. मीडिया और पुलिस को कैंपस में एंट्री से मनाही है, एबीवीपी अब तक की मतगणना में सभी सीटें हार रही ह
इसके अलावा सीपीएम ने भी जेएनयू छात्रसंघ चुनाव में ABVP पर हिंसा करने का आरोप लगाया. पार्टी ने ट्वीट किया और कहा कि लेफ्ट एकता ने एकतरफा जेएनयू चुनाव जीत लिया है.
ये हैं उम्मीदवार–
आल इंडिया स्टूडेंट्स एसोसिएशन (आइसा), स्टूडेंट्स फेडरेशन आफ इंडिया (एसएफआई), डेमोक्रेटिक स्टूडेंट्स फेडरेशन (डीएसएफ) और आल इंडिया स्टूडेंट्स फेडरेशन (एआईएसएफ) ने साथ मिलकर संयुक्त वाम गठबंधन बनाया है. गठबंधन ने स्कूल आफ इंटरनेशनल स्टडीज के एन. एस. बालाजी को अध्यक्ष पद के लिए अपना उम्मीदवार बनाया है.
डीएसएफ की सारिका चौधरी उपाध्यक्ष पद पर चुनाव लड़ रही हैं, एसएफआई के एजाज अहमद राथेर महासचिव पद के लिए और एएसआईएफ के ए जयदीप संयुक्त सचिव पद के लिए चुनाव लड़ रहे हैं. एनएसयूआई ने विकास यादव को अध्यक्ष पद के लिए और एल के बाबू को उपाध्यक्ष पद के लिए अपना उम्मीदवार बनाया है. मोहम्मद मोफिजुल आलम सचिव पद पर जबकि एन रीना संयुक्त सचिव पद के लिए चुनाव मैदान में हैं.