नेताजी सुभाष चंद्र बोस की प्रतिमा पर गलती निकालकर ट्रोल हुए जावेद अख्तर, यूजर्स ने दिया सलाह

मुंबई। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को इंडिया गेट पर नेताजी सुभाष चंद्र बोस की होलोग्राम प्रतिमा का अनावरण किया। जिसे इंडिया गेट के पास लगाया जाएगा। इस प्रतिमा का निर्माण मशहूर मूर्तिकार अद्वैत गडनायक कर रहे हैं। इसे लेकर पूरे देश में चर्चा हो रही है। अब इस मामले में गीतकार जावेद अख्तर ने अपना पक्ष रखा है। जावेद अख्तर का मानना है कि नेताजी की प्रतिमा लगाने की विचार तो अच्छा है लेकिन इसकी पोजिसन का चुनाव सही नहीं है। जावेद अपने इस ट्वीट के बाद ट्रोल हो रहे हैं।

जावेद लिखते हैं, ‘नेताजी की प्रतिमा का विचार तो अच्छा है लेकिन प्रतिमा को लेकर पसंद सही नहीं है। पूरे दिन इस प्रतिमा के ईर्द-गिर्द ट्रैफिक चलता रहेगा और प्रतिमा का पोज सैल्यूट करते हुए होगा। यह उनकी प्रतिष्ठा के हिसाब से ठीक नहीं है। यदि इस प्रतिमा में वह बैठे हुए होते या फिर अपने हाथ को हवा में लहराते हुए जैसे कोई नारा लगा रहे होते तो अच्छा होता।’

जावेद अख्तर के इस ट्वीट के बाद सोशल मीडिया पर अलग-अलग रिएक्शन आ रहे हैं। एक यूजर ने लिखा है- आपको तो बस मोदी जी की आलोचना करनी है…चाहे वजह कुछ भी हो। एक ने लिखा- जावेद साहब एक बार ये भी कह दीजिए कि दिन में पांच दफा नमाज पढ़ने का आइडिया तो ठीक है लेकिन लाउडस्पीकर में पढ़ने का आइडिया बहुत बुरा है। आप अपना ज्ञान अपने पास रखिए।

एक यूजर ने लिखा- वह आपको सलाम नहीं कर रहे हैं। वह भारत माता को प्रणाम कर रहे हैं। यह ठीक वैसे ही है जैसे लोग रथ से बादशाह को सलाम कर रहे थे, लेकिन गधों को लगा कि लोग उन्हें सलाम कर रहे हैं। वहीं एक यूजर ने लिखा है, खैर आपकी बात नहीं आपके तो नवाबी शौक होंगे पर बाकी लोगों का क्या?

बता दें कि नेताजी सुभाष चंद्र बोस की इस प्रतिमा का आयाम 28 फीट बाय 6 फीट होगा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को इंडिया गेट पर नेताजी सुभाष चंद्र बोस की होलोग्राम प्रतिमा का अनावरण किया। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि नेताजी की यह प्रतिमा हमारी लोकतांत्रिक संस्था, पीढ़ियों और कर्तव्य का बोध कराएगी। आने वाली और वर्तमान पीढ़ी को निरंतर प्रेरणा देती रहेगी।