गुड़गांव : जान बचाकर भाग रही बेबस महिला से गैंगरेप

गुड़गांव। गुड़गांव के मानेसर में पड़ोसियों से झगड़े के बाद जान बचाकर 9 महीने की बेटी को लेकर मायके जा रही महिला से गैंगरेप का मामला सामने आया है। दरिंदों ने महिला के हाथ से 9 महीने की बच्ची छीनी और उसे उठाकर बाहर फेंक दिया। बच्ची का सिर सड़क पर टकराया और उसकी मौके पर ही मौत हो गई। पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार, घटना 29 मई की रात की बताई जा रही है। उस रात 23 साल की एक महिला ने अपनी बच्ची की हत्या का मामला दर्ज कराया था। महिला ने पुलिस शिकायत में कहा था कि एक आटो ड्राइवर ने उसकी 9 माह की बच्ची की हत्या कर दी थी। करीब एक हफ्ते बाद महिला ने उसी आटो वाले पर गैंगरेप का आरोप भी लगाया है। पीड़िता ने बताया कि समाज के डर से उसने गैंगरेप की बात पुलिस से छुपाई थी, लेकिन अब वह अपनी बेटी और खुद के गुनहगारों को सख्त से सख्त सजा दिलवाना चाहती है। महिला पति के साथ गांव बांसकुसला में रहती है। 29 मई की रात पति का पड़ोसी से झगड़ा हो गया था। रात को पति के ड्यूटी पर जाने के बाद पड़ोसियों ने फिर झगड़ा शुरू कर दिया। इस पर महिला अपनी 9 महीने की बेटी को लेकर मायके जाने के लिए आईएमटी चौक आ गई। वहां उसने जिस ट्रक में लिफ्ट ली, उसके चालक ने उससे छेड़छाड़ की तो वह खेड़की दौला टोल के पास उतर गई। इसके बाद उसने टोल से ऑटो पकड़ा। ऑटो में तीन युवक थे। महिला ने कहा, ‘ऑटो में बैठते ही उन्होंने मुझे छेड़ना शुरू कर दिया, ‘मैं बुरी तरह से डर गई, मेरी गोद में बैठी 9 महीने की बच्ची घबराकर रोने लगी। उन्होंने उसे मुझसे छीना और ऑटो से बाहर फेंक दिया। इसके बाद उन्होंने मेरा रेप किया और भाग गए।’ आरोप है कि तीनों ने उसे सुनसान जगह ले जाकर गैंगरेप किया। किसी तरह महिला मायके पहुंची और देर रात आईएमटी थाने में शिकायत दी गई। पुलिस ने अज्ञात युवकों के खिलाफ हत्या का केस दर्ज किया। दो दिन बाद उसने डरते-डरते पति को रेप की बात बताई इसके बाद केस में गैंगरेप की धारा जोड़ी गई। पीड़िता के परिजनों का आरोप है कि मामले को दबाने का प्रयास किया गया। 29 मई को शिकायत देने पर पहले दिन पुलिस ने मामूली छेड़छाड़ मानकर बच्ची की मौत का केस दर्ज किया। महिला बार-बार थाने के चक्कर काटती रही। इसके बाद मामला आला अधिकारियों के पास पहुंचने पर रविवार को गैंगरेप की धारा जोड़ी गई।  इस मामले को गंभीरता से लेते हुए सोमवार को पुलिस आयुक्त संदीप खिरवार और डीसीपी साउथ अशोक बख्शी ने भी मानेसर सेक्टर-7 थाने में दौरा किया। उधर जांच अधिकारी एसआई सुनील ने बताया कि महिला की शिकायत पर केस दर्ज कर लिया गया है और आरोपियों की तलाश की जा रही है। वहीं महिला ने मेडिकल जांच कराने से इनकार कर दिया।