नेतन्याहू की ईरान को चेतावनी, इजरायल के संकल्प की परीक्षा न लें

म्यूनिख। इजरायल के प्रधानमंत्री बेंजमिन नेतन्याहू ने ईरान पर बेहद तीखा हमला बोला है। नेतन्याहू ने शनिवार को तेहरान को चेतावनी देते हुए ईरान को अक्रामकता न दिखाने की बात कही है। इस दौरान नेतन्याहू ने ईरान के ड्रोन का एक टुकड़ा भी दिखाया, जिसे वहां की सेना ने इजरायल के एयरस्पेस उड़ते वक्त गिरा दिया था। इस दौरान नेतन्याहू ने म्यूनिख सिक्यॉरिटी कॉन्फ्रेंस के दौरान कहा कि उनके पास ‘तेहरान के तानाशाह के लिए एक संदेश है।’ उन्होंने चेतावनी भरे लहजे में कहा, ‘इजरायल के संकल्प की परीक्षा न लें।’ इस दौरान उन्होंने गहरे हरे रंग का एक मेटल का पीस भी दिखाया, जिसे वे ‘ईरान के ड्रोन का टुकड़ा’ बता रहे थे।

इजरायल ने कहा कि उन्होंने 10 फरवरी को सीरिया से उनके देश में प्रवेश कर रहे एक ड्रोन को गोली मारकर गिरा दिया। इस स्ट्राइक के दौरान इजरायल का एफ-16 फाइटर भी क्रैश हो गया। बताया जा रहा है कि 1982 के बाद यह किसी भी इजरायली प्लेन का पहला नुकसान है। माना जा रहा है कि इजरायल ने इस जवाब के जरिए पहली बार सीरिया में ईरान के टारगेट को मारने की बात सार्वजनिक तौर पर मानी है।
इजरायल के विदेश मंत्री मोहम्मद जावेद जरीफ को ईरान के शासक का ‘सरलता से बोलता हुआ मुखपत्र’ बताते हुए कहा, ‘मिस्टर जरीफ, क्या आप इसे (ड्रोन के टुकड़े को) पहचानते हैं? आपको पहचानना चाहिए, यह आपका ही है।’

बता दें कि म्यूनिख में ईरान के विदेश मंत्री जरीफ भी अपनी बात रखेंगे। नेतन्याहू ने फिर से जरीफ को संबोधित करते हुए कहा, ‘इसमें कोई दो राय नहीं है कि जरीफ सीरिया में ईरान के शामिल होने की बात को नकार देंगे।’ नेतन्याहू ने कहा, ‘वह शालीनता के साथ झूठ बोलते हैं।’
इजरायल मिलिटरी का कहना है कि यह ड्रोन यूएस मॉडल के ड्रोन की कॉपी है, जिसे ईरान ने 2011 में पकड़ा था।
-एजेंसी