अलीगढ: इसे कहते है फैसला on the spot !

दिन प्रति दिन UP में रेप  की घटनाये सुनने में आती है जिसके बाद करवाई होने की मांग को लेकर प्रसासन द्वारा अस्वासन दे दिया जाता है. क्या हो जब लोग ही रेप के आरोपी की सज़ा मुकर्रर कर दे? क्या उसे बचने के मौके होंगे या दिए जायेंगे? नही, बिल्कुल नही. ऐसा ही एक केस अलीगढ़ के पास भीकमपुर में  हुआ है| जहा फैसला पुलिस प्रसासन के पास पहुचने से पहले ही ख़त्म कर दिया गया|  गाँव में 6 साल की नाबालिग लड़की से रेप किया और बाद  में उसको मार डाला  जिसका मुख्य आरोपी मौका-ए-वारदात पर पकड़ लिया गया जिसे देख के लोग आक्रोश में आ गये और आरोपी को बुरी तरह से पीटा जिससे आरोपी पूरी तरह घायल हो गया पुलिस जब घटनास्थल पर पहुंची तो किसी तरह आरोपी को बचाकर लाई और  मेडिकल में  भर्ती करवाया| जहाँ उसका उपचार शुरू हो गया लेकिन आज सुबह डॉ. ने उसे मृत घोषित कर दिया|  रिपोर्ट्स के मुताबिक, बदायूं का रहने वाला आरोपी मृत लड़की के पिता की दुकान पर काम करता था। एक महीने पहले उसे काम से निकाल दिया गया था, जिसके बाद वह गांव के आसपास भी नहीं देखा गया था। माना जा रहा है कि आरोपी उस बच्ची को फुसलाकर अपने साथ पास के ही फार्म पर ले गया, जहां बच्ची का रेप किया और फिर हत्या कर दी। जब बच्ची के काफी समय तक घर नहीं पहुंची तो माता-पिता खोजना शुरू कर दिया। उन्हें फार्म से बच्ची का शव मिला।