अलीगढ की पॉश कालोनी में पकड़ा IPL का सट्टा, रसूखदार परिवारों से ये दबोचे-

अलीगढ | महानगर की क्वार्सी पुलिस व एसओजी ने संयुक्त रूप से कार्रवाई करते हुए स्वर्ण जयंती नगर कालोनी के एक निजी स्कूल में चल रहे आईपीएल सट्टे का बुकी केंद्र पकड़ा है। यहां से केंद्र सरगना सहित तीन लोग दबोचे गए हैं। मौके से ऑनलाइन रुपयों का लेनदेन और क्रिकेट पर रुपयों के दांव लगाते पकड़ा गया। देर रात पूछताछ के बाद तीनों पर जुआ व आईटी एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज किया गया।

एएसपी विकास कुमार के अनुसार पुलिस को मुखबिर के जरिये सूचना मिली कि स्वर्ण जयंती नगर में संचालित एक स्कूल में रात में आईपीएल सट्टे का बुकी केंद्र चलाया जा रहा है। यह बुकी केंद्र चिराग सिंह द्वारा चलाया जा रहा है। पास में ही चिराग का टाइल्स का भी शोरूम है। इस सूचना पर इंस्पेक्टर क्वार्सी छोटेलाल व एसओजी प्रभारी संजीव कुमार की टीम ने छापा मारा। इस दौरान मौके से चिराग के अलावा इस बुकी केंद्र में लाइनलाइन लेनदेन व दाव लगवाने वाला ईशान याज्ञनिक निवासी सुरेंद्र नगर व नीरज कुमार निवासी जयगंज को पकड़ा गया। मौके से एक टीवी, कंप्यूटर, आठ मोबाइल कुछ लेजर आदि बरामद किए गए। पता चला कि यह स्कूल चिराग के परिवार का ही है।

तीनों को थाने लाकर पूछताछ में पता चला कि ये शहर में अपने ग्राहक बनाते हैं। उनका एडवांस रुपया अपने पास जमा कर उनकी लिमिट खोलते हैं। फिर उन्हें ऑनलाइन ही मैच शुरू होने पर खिलाते हैं। एक ऑनलाइन क्रिकेट एप के जरिये वे लोग मोबाइल पर दांव लगाते हैं। हार जीत का हिसाब लैपटॉप में लेजर पर रखा जाता है। अगले दिन उनकी हार जीत के हिसाब से रुपया इधर से उधर ट्रांसफर होता है। एएसपी के अनुसार तीनों पर मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। बाकी उनके मोबाइलों की कॉल डिटेल व उनसे मिली जानकारी के आधार पर उनसे जुड़े अन्य लोगों तक पहुंचने का भी प्रयास किया जा रहा है। इस गिरफ्तारी टीम में एसआई रविंद्र सिंह, अरविंद कुमार, संदीप कुमार आदि शामिल रहे।

बड़े घरों से ताल्लुक रखते हैं मुख्य कर्ताधर्ता-
पुलिस जांच में पता चला कि इनमें पकड़े गए चिराग व उसके परिवार का ठीकठाक कारोबार है। उसके एक भाई सरकारी सेवा में हैं, जबकि खुद का टाइल्स का शोरूम व पत्नी स्कूल चलाती है। वहीं ईशान याज्ञनिक शहर के सुरेंद्र नगर के याज्ञनिक परिवार से ताल्लुक रखता है। सुरेंद्र नगर में उनका काफी प्रख्यात कोचिंग सेंटर।