मोदी सरकार की बड़ी कामयाबी, विजय माल्या के प्रत्यर्पण को लंदन कोर्ट से मिली मंजूरी

लंदन। शराब कारोबारी विजय माल्या सोमवार को लंदन की वेस्टमिंस्टर अदालत में फिर से पेश हुए जिसके बाद माल्या के प्रत्यर्पण के मुकदमे पर फैसला आया । फैसला में माल्या के प्रत्यर्पण को लंदन कोर्ट से मंजूरी मिल गई है जिसके बाद उन्हें भारत लाने का रास्ता साफ हो गया। हालांकि कोर्ट ने उन्हें ऊपर अदालत में अपील करने की इजाजत दे दी है। बता दे कि ठप पड़ी किंगफिशर एयरलाइंस के प्रमुख रहे 62 वर्षीय माल्या पर करीब 9,000 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी और धन शोधन का आरोप है। पिछले साल अप्रैल में प्रत्यर्पण वॉरंट पर गिरफ्तारी के बाद से माल्या जमानत पर हैं।

माल्या अपने खिलाफ मामले को राजनीति से प्रेरित बताते रहे हैं । हालांकि, माल्या ने ट्वीट कर कहा, ‘‘मैंने एक भी पैसे का कर्ज नहीं लिया। कर्ज किंगफिशर एयरलाइंस ने लिया था। दुखद कारोबारी विफलता की वजह से यह पैसा डूबा है। गारंटी देने का मतलब यह नहीं है कि मुझे धोखेबाज बताया जाए।’’ माल्या ने कहा कि मैंने मूल राशि का 100 प्रतिशत लौटने की पेशकश की है। इसे स्वीकार किया जाए।