इलाहाबाद : उप मुख्यमंत्री एवं मन्त्रियों ने सामूहिक विवाह समारोह में 204 विवाहित जोड़ो को दिया आर्शीवाद

शशांक मिश्रा:-

श्रम विभाग इलाहाबाद द्वारा जनपद श्रमिकों का सामूहिक विवाह समारोह का आयोजन किया गया सामूहिक विवाह में विवाहित जोड़ों को अपने आशीवर्चन एवं उनके भविष्य शुभकामानायें दी। श्रम विभाग सामूहिक विवाह का पहला आयोजन इलाहाबाद मंडल के इलाहाबाद, फतेहपुरए कौशाम्बी और प्रतापगढ़ के कुल 204जोड़ों की शादी करवायी। जिसमें इलाहाबाद की सर्वाधिक 126बेटियां, फतेहपुर की 27, कौशाम्बी की 40 और प्रतापगढ़ की 11बेटियों की शादी करायी गयी।

इस अवसर पर उप मुख्यमंत्री ने कहा कि वैवाहिक कार्यक्रम दो व्यक्तियों के एक सूत्र बंधने का होता है जिसमें सरकार अपना सहयोग कर रही है श्रम विभाग के द्वारा श्रमिकों के हितो का ध्यान में रखते हुए उनके लिए इस तरह का सामूहिक विवाह का आयोजन किया जाना अविवाहित श्रमिकों के विवाह सम्बन्धी आर्थिक समस्याओं को दूर करता है सरकार के द्वारा असंगठित एवं संगठित दोनों प्रकार के श्रमिकों के लिए योजनायें चलायी जा रही है जिनका श्रमिकों को लाभ सीधे उन तक पहुंच रहा है सरकार सबके हितों का ध्यान रखती है चाहे वह श्रमिक, किसान, युवा, व्यापारी वर्ग या और कोई भी व्यक्ति जो समाज की मुख्य धारा से पिछड़ गया है। सरकार हर उस आखिरी व्यक्ति तक के लिए अपनी योजनाओं के माध्यम से उसका विकास करके उसे समाज की मुख्य धारा में जोड़ने का निरन्तर प्रयास कर रही है। इन्ही प्रयासों में आज श्रम विभाग के द्वारा उन श्रमिकों को विवाह सामारोह आयोजित किया है जो दूसरे की शादियो को सिर्फ देखते थे। सरकार ने श्रमिकों का भी ध्यान रखते हुए उनके लिए सामूहिक विवाह सामारोह का आयोजन करवाया एवं उनके विवाह सम्बन्धी समस्याओं को दूर करने मे अपना सहयोग प्रदान किया।

प्रभारी मंत्री आशुतोष टंडन ने कहा कि इस तरह के अनूठे आयोजन के लिए श्रम विभाग बधाई का पात्र है जनता ने हम पर भरोसा कर जो केन्द्र एवं राज्य मे हमारी सरकार बनायी है। हम उन्ही के भरोसे को कायम रखते हुए उनकी अपेक्षाओं के अनुरूप कार्य कर रहे है। जनता के हितों के लिए विभिन्न योजनाये संचालित की जा रही है जिनका लाभ प्राप्त कर वह भी दूसरो से कंधे से कंधा मिलाकर चल सके। उन्होंने कहा कि पं. दीनदयाल के अन्त्योदय के अर्थ को प्रधानमंत्री एवं मुख्यमंत्री जी पूरे मनोयोग से पूरा कर रहे है सरकार का लक्ष्य पक्ति में आखिरी खड़े व्यक्ति तक योजनाओं का लाभ पहुंचाकर उसे भी देश के विकास की राह में लाना है।

कैबिनेट मंत्री नन्द गोपाल गुप्ता नन्दी ने केन्द्र एवं उत्तर प्रदेश सरकार के कार्यो पर प्रकाश डालते हुए कहा कि इस तरह के आयोजन पिछडे लोगों को भी एक नई आस देते है जनता हम पर भरोसा कर रही है और हमे निरन्तर उनका साथ भी मिल रहा है। अभी हुय निकाय चुनाव में भी जनता ने हम पर भरोसा कर हमारा साथ दिया। उन्होंने कहा कि पारदर्शिता के लिए विभागों को आनलाईन किया जा रहा है जिससे कार्यो में पूरी पारदर्शिता रहे इलाहाबाद में शीघ्र 16 से 17 फ्लाइट चलायी जायेगी जिसका किराया आम आदमी की जेब के बराबर रखा जायेगा।

श्रम मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्या ने कहा कि श्रमिकों के लिए श्रम विभाग के द्वारा विभिन्न योजनाओं संचालित की जा रही है। जिनमें शिशु हित लाभ योजना, मातृत्व हित लाभ योजना, बालिका मदद योजना, मेधावी छात्र योजना, निर्माण कामगार आवास सहायता योजना, चिकित्सा सुविधा योजना आवासीय विद्यालय योजना, पुत्री विवाह अनुदान योजना, कौशल विकास तकनीकी उन्नयन एवं प्रमाणन योजना निर्माण, श्रमिक भोजनसहायता योजना पेंशन योजना, गम्भीर बीमारी सहायता योजना, निर्माण कामगार मृत्यु एवं विकलांगता सहायता योजना है पंजीकृत श्रमिक की दुर्घटना या मृत्यु पर आर्थिक सहायता के रूप में 05 लाख एवं स्वाभाविक मृत्यु पर 02 लाख रूपये दिये जाते है शिक्षा के लिए पांच तक के कक्षा के लिए 100 रूपये प्रतिमाह, 6 से आठ कक्षा के लिए 150 प्रतिमाह, हाईस्कूल के लिए 200 प्रतिमाह, इण्टर के लिए 250 प्रतिमाह, गेजुऐशन के लिए 500 प्रतिमाह, इंजीयरिंग के लिए 300 प्रतिमाह तथा मेडिकल के लिए 5000 प्रतिमाह रूपये श्रमिको के बच्चों को शिक्षा के लिए दिये जाते है उच्च शिक्षा के लिए 7000 रूपये तक की आर्थिक सहायता की जाती हैं। उन्होंने कि श्रम विभाग की योजनाओं का लाभ लेने के लिए श्रमिको को अपने पंजीकृत करवाना होगा अब पंजीयन शुल्क 100 से घटाकर अब 40 रूपये कर दिया गया है जिन श्रमिकों के पास मकान नही है उनके लिए भी एक लाख रूपये की आर्थिक सहायता दी जाती है। श्रम सेवायोजन राज्य मंत्री मनोहर लाल मन्नू कोरी ने सभी उपस्थित लोगों का धन्यवाद ज्ञापित किया।

ज्ञातव्य है कि श्रम मंत्रालय की ओर से आयोजित शादी समारोह के लिए परेड ग्राउंड पर कड़े सुरक्षा इन्ताजाम के बीच विवाहोत्सव सम्पन्न कराया जा रहा है। परेड ग्राउंड में भारी फ़ोर्स के आलावा की ड्रोन कैमरे से निगरानी की गई। आपको बता दे उत्तर प्रदेश सरकार ने पंजीकृत मजदूरों की 204 बेटियों का कन्यादान करने का जिम्मा उठाया है। पंजीकृत मजदूरों की 204बेटियों का सामूहिक विवाह परेड मैदान में कराया गया।उत्तर प्रदेश सरकार एवं श्रम विभाग की तरफ से संचालित पुत्री विवाह योजना के तहत इस कार्यक्रम का आयोजन किया जा रहा है ।दुल्हन और दूल्हे की तरफ से चारण्चार परिजनों का समारोह में आमंत्रित किया गया। अपनी बेटियों की सामूहिक शादी कर रहे हर मजदूर के बैंक खाते में 55000 रुपए ट्रांसफर किये गए है।।इस आयोजन में मुख्य अतिथि के रूप मे उत्तर प्रदेश के उप मुख्यमंत्री डॉ. दिनेश शर्मा के साथ प्रभारी मंत्री आशुतोष टण्डन, श्रम मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्या, श्रम राज्य मंत्री मनोहर लाल मन्नू कोरी मंत्री एवं कैबिनेट मंत्री नंद गोपाल गुप्ता नन्दी भी मौजूद रहे।