56 इंच के फ़र्जी सीने में ग़र दम है तो बदल डाले संविधान, लिख डाले उसमें-“भारत में रहना होगा तो जय श्रीराम कहना होगा”: अलका लांबा

नई दिल्ली | यूपी चुनाव से ठीक पहले देशभर में हिन्दू-मुस्लिम की राजनीति तेज हो गयी है | सोशल मीडिया पर ध्रुवीकरण का माहौल जारी है | अब गुजरात का एक वीडियो वायरल हो रहा है जिसमे हिंदूवादी एक रेस्टोरेंट का विरोध कर रहे हैं और आपत्तिजनक नारेबाजी कर रहे हैं | कांग्रेस प्रवक्ता अलका लांबा देश में सद्भाव बिगड़ने वालों पर लगातार हमलावर हैं | अलका लांबा ने एक ट्वीट कर स्पष्ट कहा है कि 56 इंच के फ़र्जी सीने में है ग़र दम- कहो उसे – बदल डाले संविधान को – लिख डाले उसमें – “भारत में रहना होगा तो जय श्रीराम कहना होगा”… है दम ? यह सब दृश्य देखकर तो मेरे मुहँ से मात्र हे राम ही निकलता है | अलका लांबा का यह ट्वीट वायरल हो रहा है |

अलका लांबा ने ट्वीट कर कहा कि- 56 इंच के फ़र्जी सीने में है ग़र दम- कहो उसे – बदल डाले संविधान को – लिख डाले उसमें – “भारत में रहना होगा तो जय श्रीराम कहना होगा”… है दम ? यह सब दृश्य देखकर तो मेरे मुहँ से मात्र हे राम ही निकलता है.

अलका लांबा ने एक ट्वीट में कहा- गोदी मीडिया को भारत में पाकिस्तान की जीत का जश्न मनाते हुए तो कुछ लोग दिख गए पर पिछले 7 सालों से भारत के ग़रीब, मज़दूर, मध्यमवर्गीय के ज़ख्मों पर नमक रगड़ती हुए मोदी सरकार नहीं दिखती. नोटबंदी के दौरान मिले ज़ख़्मों पर किसने ठहाके लगाए थे ? याद करो. असली गद्दर सत्ता में बैठे है.

एक अन्य ट्वीट में अलका ने कहा कि- देश के भीतर हिन्दू-मुस्लिम की नफ़रत की राजनीति करने वाले संघी गद्दारों से हम सब मिलकर निपट लेगें, सरहदों पर डटे हमारे जांबाज ,दुश्मनों से निपटने में सक्षम हैं, हमें उनकी क्षमताओं पर पूरा भरोसा है, खेल के मैदान में हमारे खिलाड़ी जीत हार से परे खेल की भावना को जिंदा रखे हुए हैं