होटल में उस रोज क्या हुआ था श्रीदेवी के साथ, पति बोनी कपूर ने बताई पूरी कहानी

मुंबई| श्रीदेवी के निधन से केवल उनका परिवार ही नहीं बल्कि पूरा बॉलीवुड भी सदमे में हैं। दिवंगत अभिनेत्री के पति बोनी कपूर ने 24 फरवरी की रात दुबई के उस होटल में श्रीदेवी के अचनाक निधन को लेकर अपने मित्र और फिल्म समीक्षक कोमल नाहटा से खुद का दर्दभरा अनुभव साझा किया। बोनी कपूर और श्रीदेवी अपने भांजे मोहित मारवाह की शादी में शामिल होने के लिए दुबई गए थे। शादी की रस्में पूरी होने के बाद बोनी कपूर मुंबई लौट आए थे जबकि श्रीदेवी होबोनी कपूर से बातचीत के बाद कोमल नाहटा ने इस संबंध में ब्लॉग लिखा और फिर उसे अपने ट्विटर अकाउंट पर साझा किया। कोमल नाहटा से बातचीत करते हुए बोनी कपूर ने बताया, ‘24 फरवरी की सुबह मैंने उन्हें (श्रीदेवी) कॉल किया और उनसे बातचीत की। श्रीदेवी ने बताया कि वो उन्हें (बोनी कपूर) मिस कर रही हैं। मैंने कहा मैं भी आपको बहुत ज्यादा मिस कर रहा हूं। लेकिन मैंने यह नहीं बताया कि मैं आज शाम को फिर से दुबई आ रहा हूं।’टल लौट आईं थी। अपनी पत्नी को नाहटा से बातचीत करते हुए बोनी कपूर आगे बताते हैं, ‘जान्ह्वी (श्रीदेवी की बड़ी बेटी) ने मुझे यह आइडिया दिया था कि मुझे दुबई जाना चाहिए क्योंकि उसे अपनी मां की चिंता हो रही थी जो कभी अकेली नहीं रही थी। जान्ह्वी को लगा वह डर रही होंगी, अपना पार्सपोर्ट और डॉक्यूमेंट भी खो सकती हैं। हमारा 2018 का दुबई ट्रिप अनशेड्यूल था और यह बिल्कुल 1994 के बैंगलुरु ट्रिप के जैसे था। शादी के बाद 24 सालों में केवल दो ही मौके आये जब श्रीदेवी मेरे बिना अकेले विदेश दौरे पर गयीं। एक था न्यूजर्सी का और दूसरा था वैंकूवर का, लेकिन इन दोनों मौकों पर मेरे मित्र की पत्नी उनके साथ थी। यह पहला मौका था जब 23 और 24 फरवरी को श्रीदेवी दुबई के होटल में अकेले रहीं थी।’सरप्राइज देने के लिए बोनी ने फिर टिकट बुक की और दुबई पहुंच गए।नाहटा ने ब्लॉग में लिखा कि बोनी कपूर ने बातचीत में बताया कि बोनी ने श्रीदेवी को दुबई के जुमेराह एमिरेट्स टावर्स होटल पहुंचकर सरप्राइज दिया था। बोनी ने होटल से डुप्लिकेट चाभी लेकर श्रीदेवी का कमरा खोला था। नाहटा ने बोनी के हवाले से लिखा है, “दोनों टीनएज प्रेमियों की तरह गले लगे। उन्होंने (श्रीदेवी ने) मुझसे कहा कि उन्हें अंदाज़ा था कि मैं उनसे मिलने दुबई आ सकता हूं। दोनों गले लगे, चूमा और करीब आधे घंटे तक बातें कीं।’