Navratri 2022 : नवरात्र में मां लक्ष्मी की कृपा बरसने की उम्मीद, बाजार में खुशहाली !

लखनऊ | आस्था, उल्लास और समृद्धि के पर्व नवरात्र में बाजार पर मां लक्ष्मी की कृपा रहने की उम्मीद से कारोबारी गदगद हैं। कोरोना काल की मायूसी के बाद एक बार फिर ग्राहकों की भीड़ देखकर 700 करोड़ का सराफा का कारोबार होने का अनुमान है। रीयल एस्टेट से जुड़े लोगों को बिजनेस में 60 फीसदी तक उछाल आने और ऑटोमोबाइल सेक्टर में 100 फीसदी की वृद्धि की उम्मीद है। उत्साहित कारोबारियों ने दशहरा, धनतेरस, दीपावली, भैय्या दूज से लेकर छठ तक के लिए तैयारियां कर ली हैं।

लखनऊ सराफा एसो. अध्यक्ष रवीन्द्र नाथ रस्तोगी का कहना है कि बाजार में रफ्तार बरकरार है। सामान्य दिनों में रिटेल का रोजाना का सोने-चांदी का कारोबार 25 करोड़ के आसपास होता है, थोक बाजार बुलियन के आंकड़ों के साथ 20 करोड़ के आसपास है। ऐसे में नवरात्र में इसमें 70 फीसदी की बढ़ोतरी के आसार है। यानी 693 करोड़ रुपये का कारोबार हो सकता है। उधर, एल्डिको हाउसिंग के सीईओ एसके जग्गी कहते हैं कि प्रॉपर्टी सेक्टर में नियम सख्त हुए तो अनप्रोफेशनल्स बाहर हुए हैं। मांग के सापेक्ष आपूर्ति कम है। नवरात्र में प्रॉपर्टी के कारोबार में 50-60 फीसदी तक की वृद्धि की उम्मीद है।

शुक्र अस्त, पर बाजार पर असर नहीं-
पं. राधेश्याम शास्त्री के मुताबिक, दो अक्तूबर से 20 नवंबर तक शुक्र अस्त रहेगा। आम तौर पर इस दौरान मांगलिक कार्य नहीं होते। हालांकि, विवाह मुहूर्त 24 नवंबर से शुरू हो रहे हैं। बाजार पर प्रभाव को लेकर लखनऊ व्यापार मंडल के वरिष्ठ महामंत्री अमरनाथ मिश्रा कहते हैं कि नवरात्र में मुंडन आदि की परंपरा है। खरीदारी पर असर नहीं पड़ेगा।

ऑटोमोबाइल सेक्टर भी खुश-
ऑटोमोबाइल सेक्टर के कारोबारी पीयूष अग्रवाल का कहना है कि सुखद संकेत है कि पार्ट्स व सप्लाई का संकट हल होने लगा है। लखनऊ क्लस्टर की बात करें तो आरटीओ के मुताबिक, सामान्य दिनों में हर महीने लगभग 5000 चौपहिया वाहन बिकते हैं। इस बार भी नवरात्र में बाजार 20-25 फीसदी तक बढ़ने का अनुमान है। मेगा मोटर्स के सीईओ इमरान अहमद कहते हैं कि नवरात्र में पहली बार कार खरीदने वालों की संख्या ज्यादा होती है। इन नौ दिनों में मारुति की बिकने वाली गाड़ियों का औसत 50 रहने की उम्मीद है। पीआर हुंडई के मनोज कंडवाल कहते हैं कि दो महीने तक की वेटिंग है। कुल मिलाकर बाजार अच्छा है।