यूपी, उत्तराखंड के कई जिलों में भारी बारिश, सड़कों पर बिछी बर्फ की चादर

उत्तर प्रदेश, बिहार और उत्तराखंड के कई जिलों में शुक्रवार सुबह भारी बारिश के साथ ओले पड़े। बारिश के कारण एक ओर जहां मौसम फिर से बदल गया तो ओले गिरने के कारण फसलें खराब हो गई। यूपी के हरदोई में बारिश के बाद इतने ओले गिरे की ऐसा लगने लगा जैसे सड़कों पर बर्फ की चादर बिछ गई हो। मौसम विभाग ने अगले 72 घंटे के लिए भारी बारिश और ओले गिरने की चेतावनी जारी की है। मौसम विभाग के अनुसार उत्तराखंड के देहरादून, उधमसिंहनगर, हरिद्वार और नैनीताल में भारी बारिश का अलर्ट है। 2500 मीटर से अधिक ऊंचाई वाले इलाकों में बर्फबारी की संभावना भी है। उत्तर प्रदेश के सीतापुर, बांदा, चित्रकूट, महोबा, हमीरपुर, हरदोई समेत कई जिलों में शुक्रवार सुबह बारिश के साथ ओले गिरे। बुन्देलखण्ड व कानपुर के आसपास सभी जिलों में भी मौसम बिगड़ गया। सभी जगह बारिश के आसार बन गए हैं।

बिहार के सासाराम में आकाशीय बिजली गिरने से किसान सहित तीन की मौत हो गई। यह घटना शुक्रवार सुबह मुफस्सिल थाना क्षेत्र के गिजवाही गांव के बाहर हुई । मृतकों में गिजवाही निवासी श्यामलाल सिंह के पुत्र किसान राजा राम सिंह और मजदूर नगा रजवार के 2 पुत्र गुरु चेला राजवार और राम चेला रजवार शामिल है। तेज आंधी पानी से सड़क किनारे लगे पेड़ गिर गए। जिससे यातायात प्रभावित रहा और कई स्थानों पर पेड़ बिजली के खंभों पर गिरने से बिजली लाइन क्षतिग्रस्त हो गई। जिससे विद्युत आपूर्ति बाधित हो गई है। जहां सूचना मिली वहां टीम भेजकर मरम्मत कार्य शुरू कराया जा रहा है और वन विभाग के कर्मचारी पेड़ों को काटकर रास्ता खाली कराने में जुटे हुए हैं।

शुक्रवार की भोर हुई ओलों की बरसात से जहां फसलों को नुकसान हुआ है, वही बागवानों की भी कमर टूट गई। आम के पेड़ों पर लदा बौर बड़े-बड़े ओलो के पड़ने से टूट कर जमीन पर बिखर गया। सुबह बागवान बाग पहुंचे तो वहां का नजारा देख घबरा उठे। अबकी बार आम की अच्छी फसल होने की आस पूरी तरह टूट चुकी थी। बाराबंकी जिले के भयारा, मसौली, बड़ागांव, रामनगर, सहादतगंज, रामपुर समेत आम की बाग के ज्यादा क्षेत्रफल वाले इलाकों में भयंकर ओलावृष्टि हुई है। जिससे आम का उत्पादन भी इस बार ना के बराबर होने की कगार पर पहुंच गया है।