भीम आर्मी प्रमुख चंद्रशेखर की जमानत याचिका पर सुनवाई कल, देशभर से हो रही रिहाई की मांग

नई दिल्ली | दिल्ली के तिहाड़ जेल में बंद भीम आर्मी प्रमुख चंद्रशेखर ने सोमवार को दिल्ली की तिस हजारी कोर्ट में जमानत याचिका दायर की है। इस याचिका पर कल यानी मंगलवार को सुनवाई होनी है। न्यायिक हिरासत में कैद चंद्रशेखर के मुताबिक प्राथमिकी में कहा गया है कि उन्होंने जामा मस्जिद के पास मौजूद भीड़ को दिल्ली गेट मार्च करने के लिए उकसाया और हिंसा में शामिल रहे, लेकिन इस संबंध में उनके खिलाफ कोई सबूत नहीं है।

मालूम हो कि 9 जनवरी को दिल्ली की एक अदालत ने चंद्रशेखर को एम्स में उपचार मुहैया कराने के लिए तिहाड़ जेल प्रशासन को आदेश दिया था। कोर्ट ने कहा था कि यह राज्य का कर्तव्य है कि वह जीवन को संरक्षित करे, चाहे कोई व्यक्ति जेल में हो या जेल के बाहर। बता दें कि चंद्रशेखर एक रक्त संबंधी गंभीर बीमारी(पॉलीसीथिमिया) से ग्रसित हैं।

बीते 20 दिसंबर को पुरानी दिल्ली के दरियागंज इलाके में संशोधित नागरिकता कानून (सीएए) के खिलाफ प्रदर्शन के दौरान हिंसा मामले में भीम आर्मी चीफ चंद्रशेखर को हिरासत में लिया गया था। बाद में पुलिस ने चंद्रशेखर पर सरकारी काम में बाधा पहुंचाने, लोगों को उकसाने और दंगा भड़काने समेत अन्य धाराओं में मामला दर्ज कर उसे गिरफ्तार कर लिया था। चंद्रशेखर के अलावा पुलिस ने हिंसा फैलाने के आरोप में 15 लोगों को गिरफ्तार किया था।

प्रदर्शन के दौरान एक बार तो चंद्रशेखर पुलिस को चकमा देकर वहां से भागने में कामयाब रहा था, लेकिन उसी दिन शाम में चंद्रशेखर दोबारा जामा मस्जिद में मौजूद अपने समर्थकों के बीच पहुंच गया और नारेबाजी शुरू कर दी। वहां उन्होंने कहा था कि जब तक यह काला कानून वापस नहीं लिया जाता, तब तक विरोध जारी रहेगा। इसी दौरान चंद्रशेखर को हिरासत में लेकर 21 दिसंबर को जेल भेज दिया गया था।