बलात्कारी बाबा को सजा के बाद फिर बिगड़ सकते हैं हालात, सेना और पुलिस अलर्ट

नई दिल्ली | बलात्कारी बाबा राम रहीम के आतंकी भक्तो से एक बार फिर हरियाणा और पंजाब में हालात बिगड़ने के आसार हैं |  खुफिया एजेंसियों ने हरियाणा सरकार को ये इनपुट दिया है कि साध्वी रेप केस में दोषी करार दिए गए डेरा सच्‍चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम सिंह को सजा का ऐलान किए जाने वाले दिन यानि 28 अगस्‍त को डेरा समर्थक फिर हिंसा पर उतारू हो सकते हैं। सूत्र कहते हैं कि सोमवार को सजा के एलान के बाद  हरियाणा में फिर से हिंसा और उपद्रव हो सकता है। इनपुट के अनुसार डेराप्रमियों ने अब रोहतक में जुटना शुरू कर दिया है। हालांकि सुनारिया जेल (जहां दोषी डेरामुखी को रखा गया है) रोहतक से करीबन 12 किलोमीटर दूर आउटर इलाके में स्थिति है, लेकिन उसके बावजूद काफी संख्या में डेराप्रेमी रोहतक शहर में जुटने लगे हैं।
रोहतक पुलिस के जवान भी तैनात किए गए हैं ताकि जवानों को भौगोलिक स्थिति या किसी को पहचानने में दिक्कत न आए। अर्द्धसैनिक बलों के अलावा सेना को स्टैंड-बाय रखा गया है। एक घंटे के नोटिस पर सेना रोहतक पहुंच जाएगी। सुनारिया जेल में जेल अधीक्षक सुनील सांगवान के अलावा पलवल जेल के अधीक्षक दीपक शर्मा और रेवाड़ी जेल के अधीक्षक सुरेंद्र दलाल को तैनात किया गया है। आईजी जेल जगजीत सिंह भी यहीं पर हैं। वहीं दूसरी ओर सिरसा का डेरा सच्चा सौदा, सरकार के निशाने पर है। हाईकोर्ट के तेवरों के बाद हरियाणा सरकार ने सख्ती बरतने का मूड बना लिया है। सात सौ एकड़ में फैले सिरसा डेरे को मिलिट्री और पैरा मिलिट्री फोर्स ने पूरी तरह से घेर लिया है। हालांकि, फोर्स अभी डेरे के भीतर नहीं घुसी है लेकिन डेरे के आसपास उन इलाकों को खाली करवाया जा रहा है। डेरे के आसपास घेराबंदी कर लोगों पर दबाव बनाया जा रहा है कि वे डेरे से खुद ही शांतिपूर्वक बाहर निकल जाएं।  इस जानकारी पर डीजीपी बीएस संधू ने कहा कि रोहतक में डेरा प्रेमी जुट रहे हैं, यह जानकारी मिल गई है लेकिन उसी हिसाब से इंतजाम इतने पुख्ता किए जा रहे हैं कि पंचकूला जैसी हिंसा की पुनरावृत्ति नहीं होने दी जाएगी। उनके अनुसार रोहतक में मौजूद डेरा प्रेमियों पर भी पैनी नजर रखी जा रही है। सुनारिया जेल की सुरक्षा और कड़ी कर दी गई है। देर रात रोहतक पहुंची बीएसएफ की दो कंपनियों को सुनारिया जेल के चारों तरफ तैनात कर दिया गया। सीआईएसएफ के जवान जेल के चारों तरफ तैनात थे।
हरियाणा के डीजीपी बीएस संधू ने स्वीकार किया कि डेरे के भीतर की गतिविधियों पर पैनी नजर रखी जा रही है। मिलिट्री और पैरामिलिट्री फोर्स के बूते डेरे के बाहर पूरा दबाव बनाया जा रहा है। डीजीपी हरियाणा के अनुसार करीबन तीन हजार लोग डेरे से बाहर शांतिपूर्वक आ चुके हैं और अभी भी उनकी स्वेच्छा अनुसार उन्हें बाहर निकाला जा रहा है। डीजीपी के अनुसार अभी डेरे केभीतर कोई फोर्स नहीं घुसी, लेकिन अंदर की पूरी जानकारी जुटाई जा रही है।
-एजेंसी