UP में चल रहा सरकार पोषित गुण्डाराज, योगी अब महंत कहलाने लायक नहीं : अलका लांबा

नई दिल्ली | बदायूं गैंगरेप केस को पुलिस द्वारा दबाने की कोशिश के बावजूद पोस्टमार्टम रिपोर्ट के सामने आने के बाद से देशभर वमे मचे बवाल के बाद अब योगी सरकार के डीएम बदायूं ने तुगलकी फरमान जारी किया है | पीड़िता को न्याय दिलाने में तत्परता और विश्वास जगाने की पहल के बजाय डीएम ने पोस्टमार्टम लीक होने की जांच के लिए मजिस्टेरियल जांच के आदेश दिए हैं | डीएम के फरमान के बाद कांग्रेस ने योगी सर्कार पर निशाना साधा है | कांग्रेस प्रवक्ता अलका लांबा ने कहा है कि यूपी में सरकार पोषित गुंडाराज है | उन्होंने यहाँ तक कहा है कि सीएम योगी महंत कहलाने के लायक नहीं है |

अलका लांबा ने शुक्रवार को ट्वीट किया कि – बलात्कारियों के समर्थन में #BJP की #YogiAdityanath सरकार और महिला आयोग के सदस्य भी, #उन्नाव और #हाथरस की तरह एक बार फिर बलात्कारियों का खुलकर समर्थन। #बदायूं DM का यह आदेश इसका प्रमाण है, #UP में सरकार पोषित गुण्डाराज चल रहा है, योगी अब महंत कहलाने लायक नहीं, थोड़ी शर्म आनी चाहिए.

वहीँ, ‘आप’ सरकार पर निशाना साधते हुए अलका लांबा ने ट्वीट किया कि- 24 घंटे बिजली देने का वायदा करने वाली दिल्ली की केजरीवाल सरकार क्या बता सकती है कि और कितने घंटों लोगों को अंधेरे में बैठना होगा ? दुपहर 12 बजे से बिजली लापता है, कोई जवाब नहीं मिल रहा कि बिजली कब आयेगी, यह है केजरीवाल सरकार फ़र्जी विकास का मॉडल.

अलका लांबा ने एक अन्य ट्वीट में कहा कि- एक बार फिर घंटों से इलाक़े के लोग बिना बिजली के बैठें हैं – यह अब लगभग हर रोज की बात हो चुकी है, इस बार क्या बहाना है ? #केजरीवाल सरकार सस्ती बिजली के नाम पर कब तक लोगों को ठगेगी और निजी बिजली कंपनियों (अम्बानी) से मिलने वाले चुनावी चंदे की परवाह किए बिना कार्यवाही करेगी?